पाकिस्तान को मदद बहाल करे कांग्रेस: ओबामा

  • 22 अक्तूबर 2013
बराक ओबामा
Image caption बुधवार को नवाज शरीफ से मिलेंगे ओबामा

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अमरीकी कांग्रेस से कहा है कि वो पाकिस्तान को सुरक्षा की मद में दी जाने वाली तीस करोड़ डॉलर की मदद को बहाल करे.

पाकिस्तान को मिलने वाली ये मदद मई 2011 में उस वक्त रोक दी गई थी जब अमरीकी सैन्य अभियान में पाकिस्तान के शहर एबटाबाद में अल कायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन की मौत के बाद दोनों देशों के रिश्ते तल्ख हो गए थे.

हालांकि पाकिस्तान को इस मदद की बहाली पर पिछले कुछ महीनों से विचार किया जा रहा है. लेकिन इस बारे में राष्ट्रपति बराक ओबामा का ताज़ा बयान ऐसे समय में आया है जब वो बुधवार को पाकिस्तानी प्रधानमंत्री से मिलने वाले हैं.

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ अमरीका के दौरे पर हैं और अपने इस अहम दौरे में वो राष्ट्रपति ओबामा समेत कई अमरीकी अधिकारियों से मुलाकात कर रहे हैं.

शरीफ का अमरीकी दौरा

समाचार एजेंसी एएफ़पी के अनुसार अमरीकी विदेश मंत्रालय की उप प्रवक्ता मैरी हार्फ ने पाकिस्तान को मदद की बहाली के बारे में कहा, “ये सुरक्षा मुद्दों पर सहयोग की बहाली का हिस्सा है जो 2011 और 2012 में दोतरफ़ा चुनौतियों की वजह से सुस्त पड़ा था.”

उन्होंने कहा कि इस अवधि के दौरान पाकिस्तान को सुरक्षा का मद में दी जाने वाली मदद को रुकी रही लेकिन 85 करोड़ डॉलर की सिविलियन मदद जारी रही.

मैरी हार्फ ने कहा कि अमरीका की तरफ से सुरक्षा की मद में दी जाने वाली मदद पाकिस्तानी सेना की क्षमताओं में इज़ाफ़ा करेगी जो अफगानिस्तान से लगने वाले क़बायली इलाकों में जारी हिंसक गतिविधियों को रोकने में अहम साबित होगी.

रविवार को अमरीका पहुंचने के बाद नवाज शरीफ ने अमरीकी विदेश मंत्री जॉन कैरी से मुलाकात की.

अमरीकी विदेश मंत्री ने कहा, “पाकिस्तानी लोकतंत्र अपनी अर्थव्यवस्था को आगे बढ़ाने के लिए मेहनत कर रही है. इसके साथ साथ उनसे देश में जारी चरमपंथ से निपटना पड़ रहा है.”

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार