नकली बंदूकधारी पर चली असली गोली

अमरीका के कैलिफ़ोर्निया में एक 13 वर्षीय लड़के को पुलिस ने मार दिया. इस किशोर के पास एक नकली राइफ़ल थी.

सैंटा रोसा शहर के अधिकारियों का कहना है कि जब लड़के ने राइफ़ल डालने से मना कर दिया तब पुलिस ने गोली चलाई क्योंकि उन्हें लगा कि यह असली है.

मंगलवार को हुई इस घटना की जांच की जा रही है. ये घटना नेवादा में गोलीबारी की उस घटना के बाद हुई है जिसमें एक छात्र ने अपने शिक्षक को मार दिया था औऱ दो साथियों को घायल कर दिया था. बाद में उसने ख़ुद को भी ख़त्म कर दिया.

सोनोमा काउंटी शेरिफ़ दफ़्तर के बयान में कहा गया है कि शेरिफ़ के दो सहायकों ने इस किशोर को देखा जिसके पास एक राइफ़ल थी. उन्होने उसे चेतावनी दी औऱ अपनी बंदूक से कई राउंड गोलियां चलाने से पहले बार-बार राइफ़ल नीचे डालने का आदेश दिया.

पहचान

बाद में इस लड़के के परिवार वालों ने उसकी पहचान ऐंडी लोपेज़ के रूप में की.

उसके पिता रॉड्रिगो लोपेज़ ने बताया कि राइफ़ल ऐंडी के एक दोस्त की थी. शेरिफ़ के दफ़्तर का कहना है कि लड़के की कमर से एक और प्लास्टिक गन भी बरामद हुई है.

घटना के गवाह ब्रायन ज़ैस्ट्रो का कहना है कि उन्होने सात गोलियां चलने की आवाज़ सुनी. ब्रायन ने कहा, ''पहले मुझे एक सायरन सुनाई दिया और फिर कुछ सेकेंड के भीतर मैंने सात गोलियां चलने की आवाज़ सुनी.''

पुलिस का कहना है कि शेरिफ़ के सहायकों को जांच जारी रहने तक छुट्टी पर भेज दिया गया है. शेरिफ़ स्टीव फ़्रीटस ने इस शूटिंग को त्रासदी बताते हुए पारदर्शिता और गहराई से जांच कराने का भरोसा दिलाया है.

शोक

Image caption ऐंडी लोपेज़ के पास यह नकली बंदूक थी जिसे फेंकने से उसने इंकार दिया

शेरिफ़ ने कहा है, ''इसी उम्र के दो बेटों के पिता के रूप में मैं इस दुख की कल्पना भी नहीं कर सकता हूं.''

स्कूल की प्रवक्ता ने कहा, ''उसे सभी प्यार करते थे, वह एक लोकप्रिय, प्रतिभावान और ख़ूबसूरत किशोर था.''

लॉरेंस कुक मिडिल स्कूल की सहायक प्रधानाचार्य लिंसी गैनन ने कहा कि वह स्कूल के बैंड में ट्रंपेट बजाता था. ''उसके जाने से हम सदमे में हैं.''

घटना स्थल पर खिलौने, फूल और मोमबत्तियां जलाने का सिलसिला चल रहा है. सोमवार को नेवादा के एक स्कूल में एक छात्र ने अपने गणित अध्यापक माइकल लैंड्सबेरी की हत्या कर दी थी.

लैंड्सबेरी ने भी कोशिश की थी कि वह छात्र अपने हाथ से बंदूक छोड़ दे और बच्चों को जाने दे. लड़के ने गोलियां चलाकर अपने दो साथियों को घायल कर दिया और ख़ुद को भी मार लिया.

गोलीबारी की कई घटनाओं के मद्देनज़र राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अमरीका में हथियार क़ानूनों में बदलाव की बात कही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार