एक पैर से स्कूबा डाइविंग

Image caption एक दुर्घटना में सू राइट की टांग काटनी पड़ी लेकिन इससे उनके इरादे क़मज़ोर नहीं पड़े.

माउंट किलिमंजारो की चढ़ाई, चीन और जॉर्डन की सैर, मेडागास्कर में ट्रेकिंग का रोमांच. लेकिन एक दुर्घटना के बाद सू राइट के बचने की महज़ पाँच फ़ीसदी संभावना रह गई और आगे के रास्ते पर अनिश्चितता.

दुर्घटना के बाद राइट की एक टांग काटनी पड़ी.

हालांकि महज़ पांच साल के अंदर ही सू अब तैयार हैं पानी के भीतर की दुनिया खंगालने के लिए. उनकी स्कूबा डाइविंग सीखने की प्रक्रिया ख़त्म होने को है.

साल 2008 में दुर्घटना का शिकार हुई 52 वर्षीय राइट को सिर, टांगों और कुछ और अंगों में चोट आई थी.

यह दुर्घटना उस समय हुई जब वह फ़ुटपाथ पर चल रही थीं और एक गाड़ी ने उन्हें टक्कर मार दी.

दुर्घटना

Image caption सू राइट मानती हैं कि स्कूबा डाइविंग के ज़रिए वो पानी के भीतर की दुनिया खंगालेंगी.

राइट ने बताया, ''मुझे दिमाग़ी चोट आई क्योंकि मेरा सिर गाड़ी से बहुत ज़ोर से टकरा गया था और इससे मेरे दिमाग़ में ख़ून बहने लगा. बाद में मेरा बायां पैर घुटने से ऊपर तक काट कर अलग कर दिया गया. और दूसरा पैर भी बुरी तरह से चोटिल था. अस्पताल में कई बार मैं मौत के क़रीब तक पहुंच गई थी.''

राइट आगे कहती हैं, ''मैं ठीक होने के आसपास तक नहीं थी. इस साल की शुरुआत में मैंने सोचा कि मुझे इससे बाहर निकलना होगा क्योंकि अगर मैं तैर सकूं तो कुछ छूटेगा नहीं.''

थोड़ी खोजबीन करने पर सू को एक स्थानीय सब-एक्वा क्लब का पता चला और उन्होने वहां दाख़िला ले लिया हालांकि चुनौतियां उनका इंतज़ार कर रही थीं.

सू कहती हैं, ''लोग बिना किसी चोट के भी पानी के भीतर सांस लेने से डरते हैं और अगर आप एक बार मौत के पास से गुज़रे हों तो आप सतर्क हो जाते हैं कि मौत एक सांस के फ़ासले पर हो सकती है.''

डाइविंग

Image caption चोट लगने के बाद सू को नौ महीने तक अस्पताल में बिताने पड़े.

क्लब में अपने पहले दिन के बारे में सू कहती हैं, "मैं वहां पहली बार पहुंची तो बर्फ़बारी हो रही थी और मैं अपने प्रोस्थेटिक टांग पर चल रही थी. मुझे अपनी टांग को एक तरफ़ निकाल कर पूल के किनारे पर जाना पड़ा. काफ़ी अजीब स्थिति थी क्योंकि लोग समझ नहीं पा रहे थे कि क्या प्रतिक्रिया दें लेकिन वो लोग काफ़ी समझदार और अच्छे थे."

सू को इंस्ट्रक्टर निगेल ईलैंड के साथ प्रशिक्षण लेना था. निगेल के लिए 20 सालों में यह पहला मौक़ा था जब उन्हें किसी शारीरिक रूप से अक्षम प्रशिक्षु के साथ काम करना था.

उन्होने सू से कहा ''हम दोनों मिलकर इस पर काम करेंगे.''

सबसे बड़ी चुनौती सू राइट का संतुलन बनाने की थी. निगेल कहते हैं ''उसके शरीर का एक हिस्सा काफ़ी हल्का था जिसकी वजह से वो पानी में सिर के बल उल्टी हो जाती थी. हमें लगा कि जिस तरफ़ टांग नहीं है उधर वज़न डाला जाए तो ठीक रहेगा पर उससे काम नहीं बना. फिर लगा कि ये दूसरी तरफ़ होना चाहिए.''

सू ने अब तक समुद्री तैराकी के लिए सिद्धांत और पूल सेशन पूरे कर लिए हैं. अब बस खुले पानी में कूदना बाक़ी है.

अर्जेंटीना से अंटार्कटिका

Image caption स्कूबा डाइविंग सीखने की प्रक्रिया ने सू को नए दोस्त भी दिए हैं.

निगेल ईलैंड कहते हैं कि ''वह दिन पर दिन सशक्त होती जा रही है. अगर वो व्हील चेयर का इस्तेमाल करती तो उनका ऊपरी हिस्सा मज़बूत होता लेकिन वो प्रोस्थेटिक टांग इस्तेमाल करती है इसलिए पूरा शरीर क़मज़ोर है. अगले कुछ महीनों में हम उसकी मज़बूती पर काम करेंगे.''

अगले साल सू राइट अर्जेंटीना से अंटार्कटिका तक ड्रेक पैसेज से तय करेंगी और लॉर्ड नेल्सन शिप पर वापिस आएंगी जो जुबली सेलिंग ट्रस्ट प्रोग्राम का हिस्सा है.

सू कहती हैं ''मुझे कुछ समस्याओं पर जीत हासिल करनी है लेकिन ऐसा करने के तरीक़े हमेशा मौजूद होते हैं.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार