चीनः जब प्यार किया तो डरना क्या

joselyn_jun_yu

"जब से मैंने एक चीनी आदमी से प्यार किया, छिपना मेरी ज़िंदगी का हिस्सा बन गया."

यह कहना है अमरीका की जोसेलिन ईकेनबर्ग का जो 2003 में जुन लू के साथ रहने के लिए शंघाई आ गई थीं. लू अब उनके पति हैं.

वह कहती हैं, "पहले, छात्रों को विदेशियों को डेट करने (समय बिताने) पर निकाल दिया जाता था. विश्वविद्यालय प्रशासन को पता चल जाता तो न जाने क्या होता, इसलिए हमने किसी को भी नहीं बताया कि लू कैंपस के बाहर मेरे साथ रह रहे हैं."

किसी चीनी आदमी और विदेशी महिला की जोड़ी काफ़ी दुर्लभ है.

उनके अपने देश के लोगों के बीच वो जल्द ही अलग-थलग पड़ गईं. उनकी सहेलियां चीनी पुरुषों के प्रति अपनी नापसंदगी खुलेआम बताती थीं और इससे वह असहज महसूस करती थीं.

ईकेनबर्ग कहती हैं, "एक चीनी नागरिक से शादी करने के कारण मैं अकेली महसूस करती थी और अन्य लोगों से संपर्क बनाना चाहती थी."

उन्होंने साल 2009 में अपने अनुभव अपने ब्लॉग, स्पीकिंग ऑफ़ चाइना, में साझा करने शुरू किए.

महिलाएं आगे

ईकेनबर्ग कहती हैं कि अब उन्हें हर महीने बड़ी संख्या में ऐसे चीनियों के ईमेल मिलते हैं जो विदेशियों से मिलना और उनके साथ डेटिंग करना चाहते हैं. या ऐसे ईमेल जिनमें साथी नए हों या किसी अन्य संस्कृति वाले व्यक्ति से संबंधों में दिक्क़त आ रही हो.

Image caption इस दशक के अंत तक चीन में 2.40 करोड़ शादी योग्य पुरुष अविवाहित रह जाएंगे.

सरकारी आंकड़ों के अनुसार साल 1978 तक मेनलैंड चाइना में एक भी अंतर-जातीय शादी दर्ज नहीं थी.

लेकिन अब विदेशियों से शादी करने वाले चीनियों की संख्या में तेज़ी से बढ़ोतरी हो रही है. साल 2012 में 53,000 जोड़े शादी कर रहे थे.

बीजिंग में एक सरकारी अख़बार के पूर्व संपादक और 'बिहाइंड दि रेड डोर: सेक्स इन चाइना' किताब के लेखक रिचर्ड बर्गर कहते हैं कि यह बदलाव चीन में आर्थिक सुधार और 'खुलने' के बाद आया.

उनका कहना है कि चीन में एक सेक्स क्रांति हो गई है, ''लोग जिस तरह के कपड़े पहनते हैं, जोड़े मुख्य शहरों की सड़कों पर हाथ पकड़कर घूमते हैं और युवाओं में सेक्स को लेकर झिझक कम हो रही है.''

बर्गर कहते हैं कि इस क्रांति की एक वजह ये भी है कि अब युवाओं को अपने साथी चुनने में अपने मां-बाप से ज़्यादा आज़ादी मिलती है.

जुन कहते हैं, "मेरे लिए एक पश्चिमी महिला के साथ समय बिताना और शादी करना एक तरह से विद्रोही कदम ही था." उनके पिता ने उन्हें चेतावनी दी थी कि विदेशी दोस्त तो हो सकती हैं लेकिन प्रेमिका या पत्नी नहीं.

Image caption चीनी पुरुषों की तुलना में महिलाएं विदेशियों से मिलने और शादी करने में आगे हैं

लेकिन इसके विपरीत जुन अपने साथियों में "प्रसिद्ध" हैं जो उनकी बीवी के पश्चिमी होने की वजह से उसकी इज़्ज़त करते हैं.

अंतर-सांस्कृतिक शादियों में चीनी महिलाओं और विदेशी पुरुषों का आंकड़ा इसके उलट है. बहुत सी चीनी महिलाएं विदेशी पुरुषों के साथ समय बिता रही हैं या शादी कर रही हैं.

चीन में सेक्स के प्रमुख विद्वानों में से एक ली यीन्हे कहते हैं कि एक वजह यह भी हो सकती है कि चीनी आदमियों में आत्मविश्वास की कमी होती है.

बर्गर इससे सहमत हैं, "आदमी इस विश्वास के साथ बड़े होते हैं कि वह परिवार के मुखिया हैं, शक्ति उन्हीं के पास है."

वो कहते हैं, "पश्चिमी महिलाओं के लिए यह काफ़ी डराने वाली बात है, जिन्हें ऊंचे दर्जे की शिक्षा मिली होती है, ज़्यादा पैसा होता है या कमाने की क्षमता होती है और सेक्स का अधिक अनुभव होता है."

पेचीदगी

एक अभिनेत्री और अपनी ही तरह की डेटिंग गुरु यूइ ज़ू कई साल अमरीका में रहने के बाद चीन बीजिंग के अपने घर वापस लौटीं तो वो यह देखकर दंग रह गईं कि बड़ी संख्या में विदेशी आदमी और चीनी महिलाएं वक्त साथ बिता रहे थे.

वह कहती हैं, "पश्चिम में एशियाई महिलाओं को मोहक ख़ूबसूरती माना जाता है; जो सार्वजनिक जीवन में तो लाइब्रेरियन होती है लेकिन बेडरूम में विचित्र. चीन में पश्चिमी कल्पना हक़ीक़त से मिलती है."

यूइ कहती हैं कि जब किसी से मिलने की बात आती है तो चीनी महिलाएं काफ़ी आक्रामक हो गई हैं. उन्हें लगता है कि इसकी वजह सामाजिक दबाव और 27 साल की उम्र में ही 'बची खुची औरतें' कहलाने का डर है.

Image caption रुपर्ट मर्डोक से 14 साल की शादी के बाद वेंडी डेंग का हाल ही में अलगाव हुआ है

एक मानसिकता है कि "अगर मुझे प्यार चाहिए तो इसे मुझे ही ढूंढना होगा. कोई दूसरा मेरे लिए यह नहीं कर सकता."

हो सकता है कि कुछ महत्वपूर्ण मिश्रित युगल जो चीन और पश्चिम की ख़बरों में रहे हैं, इस चलन को दिशा दे रहे हों.

'टाइगर वाइफ़' के नाम से जानी गईं वेंडी डेंग की शादी मीडिया मुगल रूपर्ट मर्डोक से हुई थी. जून में अलग होने से पहले उनकी शादी 14 साल चली.

इसी साल की शुरुआत में ब्रिटिश अभिनेता ह्यू ग्रांट ने ऐलान किया था कि उनके दूसरे बच्चे को जन्म उनकी चीनी साथी टिंगलैन हॉंग देंगी.

शंघाई के गैर-लाभकारी सामाजिक केंद्र (सीसीएस) में एक संबंध सलाहकार एचिंग कहती हैं, "अंतर-सांस्कृतिक शादियां पेचीदा हो सकती हैं."

शादी या प्रेम कर रहे जोड़े सलाह लेने आते हैं क्योंकि वह प्यार तो करते हैं लेकिन रोज़मर्रा की ज़िंदगी में चुनौतियों और दिक्क़तों का सामना करना पड़ता है."

जोसेलीन बताती हैं कि उनके और जुन के संबंधों में एक वक्त तनाव, निजी वजहों और सांस्कृतिक अंतरों की वजह से एक "ज़बरदस्त तूफ़ान" आ गया था.

अपने ब्लॉग में वह लिखती हैं, "जब आप किसी और संस्कृति के व्यक्ति से प्यार करते हैं तो यह भूलना आसान होता है कि आपने अपनी दिक्क़तों को दूर करने और संवाद करने के अलग तरीक़े सीख लिए हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार