मनमोहन सिंह 'दुनिया के सबसे शक्तिशाली सिख'

मनमोहन सिंह

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को दुनिया के 100 सबसे शक्तिशाली सिखों की सूची में शीर्ष पर रखा गया है.

'सिख डायरेक्टरी' नामक संस्था ने अपने पहले वार्षिक प्रकाशन 'सिख 100' में प्रधानमंत्री को सबसे ऊपर स्थान दिया है.

यह सूची सबसे प्रभावशाली समकालीन सिखों की है. इसमें कहा गया है कि 81 वर्षीय मनमोहन सिंह 'एक विचारक और विद्वान के तौर पर बहुत प्रतिष्ठित हैं.'

मनमोहन सिंह का परिचय देते हुए कहा गया है कि काम के प्रति उनकी लगन और शैक्षणिक दृष्टिकोण के साथ उनकी पहुंच और विनम्र व्यवहार के लिए उन्हें काफ़ी सम्मान दिया जाता है.

इस सूची में योजना आयोग के उपाध्यक्ष मोंटेक सिंह अहलूवालिया को दूसरा सबसे ताकतवर सिख बताया गया है.

श्री अकाल तख्त साहिब के मौजूदा प्रमुख जत्थेदार सिंह साहिब गियानी गुरबचन सिंह को सूची में तीसरा स्थान दिया गया है.

पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल को चौथा सबसे ताकतवर सिख करार दिया गया है.

सबसे ताकतवर सिख महिला

Image caption मोंटेक सिंह अहलूवालिया सबसे ताकतवर सिखों की सूची में दूसरे स्थान पर हैं

मास्टरकार्ड वर्ल्डवाइड के अध्यक्ष एवं सीईओ अजयपाल सिंह बग्गा को सूची में आठवें और ब्रिटेन में रॉयल कोर्ट ऑफ जस्टिस के न्यायाधीश रूबिंदर सिंह को नौंवे स्थान पर रखा गया है.

सौ सिखों की इस सूची में 14 महिलाएं भी शामिल हैं. सूची में सातवें स्थान के साथ अखिल भारतीय पिंगलवारा सोसाइटी की अध्यक्ष डॉक्टर इंदरजीत कौर महिलाओं में सबसे ऊपर हैं.

प्रधानमंत्री की पत्नी गुरशरण कौर को 13वां स्थान मिला है.

इस सूची में मशहूर पत्रकार लेखक खुशवंत सिंह 16वें, ब्रिटेन में न्यायाधीश सर मोटा सिंह 17वें, अमेरिका में होटल व्यवसायी संत सिंह चटवाल 18वें, फोर्टिस हेल्थकेयर के प्रमुख एवं निदेशक मालविंदर तथा शिविंदर सिंह 21वें और पंजाब के उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल 22 वें स्थान पर हैं.

सूची में क्रिकेटर हरभजन सिंह को 23वां, पंजाब नेशनल बैंक के प्रबंध निदेशक भूपिंदर सिंह को 26वां, पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को 29वां, ब्रिटेन स्थित संगठन नेटवर्क ऑफ सिख आर्गनाइज़ेशंस के निदेशक लॉर्ड इंदरजीत सिंह को 31वां, सन मार्क लिमिटेड (यूके) के प्रमुख रमिंदर सिंह रंगेर को 37वां और गायक मलकीत सिंह को 91वां स्थान दिया गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार