फ़िलीपींस: राष्ट्रीय आपदा की घोषणा

फ़िलीपींस के राष्ट्रपति बेनिग्नो अक्विनो ने हेयान तूफ़ान से हुए व्यापक विनाश को राष्ट्रीय आपदा घोषित कर दिया है.

अपने बयान में राष्ट्रपति ने कहा कि सर्वाधिक प्रभावित इलाक़ों में व्यापक विनाश हुआ है और भारी तादाद में लोग मारे गए हैं.

आशंका है कि हेयान से सबसे अधिक प्रभावित लेयटे प्रांत की राजधानी टेक्लोबान में दस हज़ार से अधिक लोगों की मौत हुई है और लाखों लोगों को विस्थापित होना पड़ा है.

हेयान ने टेक्लोबान में घरों, स्कूलों और एक हवाई अड्डे को नुक़सान पहुंचाया है. राहत और बचाव कर्मी अभी भी तूफ़ान प्रभावित कई गांवों में नहीं पहुंच पाए हैं.

हज़ारों की तादाद में लोग अभी भी राहत सामग्री पहुंचने का इंतज़ार कर रहे हैं.

'अभूतपूर्व तबाही'

संयुक्त राष्ट्र ने फ़िलीपींस में समुद्री तूफ़ान हेयान से हुई तबाही को अभूतपू्र्व बताया है और कहा है कि इससे निपटने के लिए बड़े पैमाने पर अंतरराष्ट्रीय सहायता की ज़रूरत है.

संस्था का कहना है कि अब भी कटे हुए इलाक़ों से जानकारी मिलने के साथ ही उसे हालात और ज़्यादा बिगड़ने की आशंका है.

फ़िलीपींस में हेयान आए हुए चार दिन हो चुके हैं. छह लाख से ज़्यादा लोगों को अपने घर छोड़ कर भागना पड़ा है.

फ़िलीपींस में और भारी बारिश का पूर्वानुमान है.

अंतरराष्ट्रीय मदद

इस बीच फ़िलीपींस में अंतरराष्ट्रीय मदद का पहुंचना जारी है.

अमरीका ने कहा है कि वो फ़िलीपींस में राहत कार्यों में मदद के लिए एक सैन्य हवाई जहाज़ भेज रहा है. सबसे ज़्यादा प्रभावित टैक्लोबान शहर में पहले से ही अमरीकी मरीन सैनिकों की तैनाती हो गई है.

ब्रिटेन ने भी घोषणा की है कि वो राहत सामग्री के साथ नौसेना का एक जहाज़ और मालवाहक विमान भेजेगा.

रेड क्रॉस के प्रमुख रिचर्ड गॉर्डन ने बीबीसी को बताया कि सड़कों का साफ़ किया जाना बहुत ज़रूरी है ताकि दूरदराज़ के क्षेत्रों तक भोजन, कपड़े, दवाई और पीने का साफ़ पानी पहुंचाया जा सके.

अमरीकी राष्ट्रपति ने फ़िलीपींस में भारी संख्या में लोगों के मारे जाने पर गहरा दुख व्यक्त किया है.

अन्य देशों ने भी लाखों डॉलर की सहायता का वादा किया है. साथ ही कई सहायता संगठन आपातकालीन सहायता पहुंचाने का प्रयास कर रहे हैं.

फ़िलीपींस में रेड क्रॉस के प्रमुख रिचर्ड गॉर्डन ने बीबीसी को बताया, "वहाँ बड़े पैमाने पर मौतें हुई हैं. हर जगह कई लोग मारे गए हैं. इस समय पूरा अराजकता का माहौल है, लेकिन उम्मीद है कि जैसे ही मदद पहुँचेगी हालात बेहतर हो जाएंगे. राहत कार्यकर्ताओं के लिए सड़कों की सफ़ाई का काम जारी है ताकि वे अधिक प्रभावित क्षेत्रों तक पहुंच सकें. आशंका है कि वहां पहुंचने पर उन्हें रास्ते में अधिक शव मिल सकते हैं."

तूफ़ान की वजह से कई इलाक़ों में पीने के साफ़ पानी, बिजली और खाने का संकट पैदा हो गया है.

फ़िलीपींस में तबाही मचाने के बाद हेयान सोमवार सुबह वियतनाम के उत्तरी प्रांत कुआंग निन्ह में तट से टकराया. हालांकि वहाँ पहुँचने से पहले ही हेयान की गति काफ़ी कमज़ोर पड़ चुकी थी. इस दौरान उसकी रफ्तार क़रीब 150 किलोमीटर प्रति घंटा थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार