तीन महिलाएं तीस साल तक रहीं गुलामों की तरह

  • 22 नवंबर 2013
महिला रखी गईं बंधक
Image caption ये मामला लंदन के दक्षिणी हिस्से का है

लंदन पुलिस का कहना है कि उसने तीस साल तक गुलामों की तरह रखी गईं तीन महिलाओं को शहर के दक्षिणी हिस्से में एक घर से छुड़ाया है.

पुलिस ने इस मामले में गुरुवार को एक 67 वर्षीय व्यक्ति और एक महिला को गिरफ्तार किया है.

पिछले महीने 'फ्रीडम चैरिटी' नाम की एक संस्था ने पुलिस से संपर्क किया और बताया कि उन्हें एक महिला ने फोन कर बताया कि उसे दशकों से उसकी मर्जी के खिलाफ कैद रखा गया है.

जिन महिलाओं को पुलिस ने 25 अक्टूबर को छुड़ाया उसमें 69 वर्षीय मलेशियाई महिला, 57 वर्षीय आयरिश महिला और एक तीस वर्षीय ब्रितानी महिला शामिल है.

मानसिक रूप से बेहद परेशान इन महिलाओं को अब सुरक्षित जगहों पर रखा गया है.

'गिरफ्तारी में देरी'

30 वर्षीय महिला ने अपनी अब तक की पूरी जिंदगी कैद में गुजारी है. अधिकारियों का कहना है कि वो ये पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि क्या उसका जन्म उसी घर में हुआ था.

पुलिस इन महिलाओं के बीच के संबंध की भी छानबीन कर रही है.

पुलिस अधिकारी केविन हेलैंड ने कहा, “हमने कुछ मामले देखे हैं जिनमें कुछ लोगों को दस साल तक बंधक बना कर रखा गया लेकिन इस तरह का मामला कभी नहीं देखा.”

उन्होंने बताया, “इस मामले में गिरफ्तारी में देरी हुई. इसकी वजह ये थी कि हमें बहुत ही सावधानी के साथ काम करना पड़ा क्योंकि ये महिलाएं बहुत प्रताड़ित थीं और इस मामले के तथ्यों को भी समझना था.”

हेलैंड के मुताबिक वो किसी भी तरह इन महिलाओं की पीड़ा को नहीं बढ़ाना चाहते थे.

पुलिस का कहना है कि इस मामले से जुड़े तथ्य बहुत ही धीरे-धीरे सामने आए क्योंकि कई विशेषज्ञ इन महिलाओं के साथ काम कर रहे थे. अधिकारियों के मुताबिक अभी तक यौन उत्पीड़न के कोई प्रमाण नहीं मिले हैं.

हेलैंड ने इस मामले में फ्रीडम चैरिटी की भूमिका की प्रशंसा की. इस संस्था को फोन आयरिश महिला ने किया और बताया कि उनके साथ दो और महिलाओं को रखा गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार