प्लेबॉय: जो 60 में पढ़ाए जवानी का पाठ

प्लेह्वॉय का कवर
Image caption ह्यू हेफ़नर ने मर्लिन मुनरो की कब्र के बगल में अपनी कब्र के लिए ज़मीन ली है

पीढ़ी दर पीढ़ी हॉस्टल के गद्दों के नीचे छिपाकर रखी हुई वो मैगज़ीन इस महीने साठ की हो गई. और इन साठ सालों का सबसे आम सफ़ेद झूठ था, मैं इस पत्रिका को उसमें छपे लेखों और इंटरव्यूज़ के लिए पढ़ता हूं.

अपनी मां से हज़ार डॉलर उधार लेकर ह्यू हेफ़नर ने प्लेबॉय पत्रिका की शुरूआत की थी और पहले संपादकीय में लिखा था, '' ये पत्रिका है 18 से 80 की उम्र के मर्दों के लिए और पहले अंक में तस्वीर थी मैर्लिन मुनरो की सिर्फ़ और सिर्फ़ एक मुस्कान ओढ़े हुए.''

लेकिन साथ-साथ हेफ़नर ने एक और प्रयोग भी किया. उन्होंने प्लेबॉय को एक सेक्स मैगज़ीन की छवि से अलग रखने की कोशिश करते हुए इसमें प्रबुद्ध लेखकों, राजनीतिक बहस और तीखे कार्टूनों को भी जगह दी.

डर्टी मैगज़ीन

मैगज़ीन बिकी और खूब बिकी लेकिन मार्टिन लूथर किंग और जिमी कार्टर जैसे नामों के इंटरव्यूज़ के बावजूद डर्टी मैगज़ीन का ठप्पा उस पर से कभी नहीं हटा. उसे ड्रॉइंग रूम में कभी जगह नहीं मिली, हमेशा गद्दों के नीचे ही दबा कर रखा गया.

Image caption भारत में इस पत्रिका के प्रकाशन पर प्रतिबंध है

जैसे-जैसे उसकी बिक्री बढ़ी, धार्मिक गुटों और फ़ेमिनिस्ट गुटों के तेवर भी तीखे हुए. पत्रिका पर नौजवान पीढ़ी को गुमराह करने, महिलाओं के शोषण के आरोप भी लगे. वहीं पचास और साठ के दशक के अमरीका की समझ रखनेवालों की माने तो प्लेबॉय ने सेक्स से जुड़े कई मिथकों को भी तोड़ा.

इंटरनेट पर आसानी से उपलब्ध पॉर्न और वयस्क सामग्री के बाद लगा कि शायद अब प्लेबॉय के संन्यास लेने का वक्त आ गया है. लेकिन अब पत्रिका कई अवतारों में मौजूद है, डिजिटल, टेलिविज़न, फ़ैशन हर जगह इसने अपनी जगह बना रखी है. भारत समेत जिन देशों में पत्रिका के छपने पर बैन है वहां भी प्लेब्वाय के कपड़े और परफ़्यूम धड़ल्ले से बिकते हैं.

इसके मालिक ह्रयू हेफ़नर 87 साल की उम्र में भी अपनी रंगीन ज़िदगी की वजह से अक्सर अख़बारों में होते हैं. उनके शब्दों में "मैंने एक हज़ार से ज़्यादा महिलाओं के साथ सेक्स संबंध बनाए हैं लेकिन अपनी तीन पत्नियों के साथ कभी बेवफ़ाई नहीं की है."

और उनके मिजाज़ का अंदाज़ा आपको इस बात से भी लग जाएगा कि अपनी मौत के बाद अपनी कब्र के लिए जो जगह उन्होंने खरीदी है, वो मर्लिन मुनरो की कब्र के ठीक बगल में है!

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार