मंडेला का शोकः आंसू, प्रार्थनाएं और नाच-गाना

मंडेला की याद में

दक्षिण अफ़्रीका में रंगभेद के ख़िलाफ़ जंग के नायक नेल्सन मंडेला की मौत के बाद शोक व्यक्त करने और श्रद्धांजलि देने का सिलसिला जारी है.

सोवीटो में मंडेला के पुराने घर के बाहर बड़ी संख्या में लोग उनकी विरासत को याद करते हुए नाच-गा रहे हैं.

दक्षिण अफ़्रीकी राष्ट्रपति के अनुसार 15 दिसंबर को राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा.

पूरे दक्षिण अफ़्रीका में लोग प्रार्थनाएं कर रहे हैं, रंगभेद के ख़िलाफ़ गीत गा रहे हैं और मोमबत्तियां जला रहे हैं.

'जो देश दे गए'

जोहानेसबर्ग के उपनगर ह्यूटन में उनके घर, जहां उन्होंने अंतिम सांसें लीं, के बाहर भी हज़ारों लोग फूल रख रहे हैं और अब फूलों की एक दीवार सी बनती जा रही है.

घर के पास एक स्टेज बना दिया गया है जहां से पादरी भीड़ को प्रार्थना करवा रहे हैं.

मंडेला के एक पोते, बुसो मंडेला, ने अपने दादा की याद में एक माला बनाई है.

वहां शोक जता रहे एक व्यक्ति ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स को कहा, "मैं तब पैदा हुआ तब वह राष्ट्रपति बन चुके थे. मैं तो बस उस दक्षिण अफ़्रीका को याद कर रहा हूं जो वह छोड़ गए हैं, जो हमें दे गए हैं."

दक्षिण अफ़्रीकी राष्ट्रपति जैकब ज़ुमा श्रद्धांजलि व्यक्त करने शुक्रवार को उनके घर गए थे. उन्होंने एक प्रेस कॉंफ्रेंस में शोक जताने के लिए एक सप्ताह के कार्यक्रम की घोषणा की.

रविवार का दिन प्रार्थनाओं और विशेष धार्मिक आयोजनों के ज़रिए शोक मनाने का आधिकारिक दिन रहेगा.

अगले हफ़्ते पूर्वी केप में मंडेला के पैतृक गांव कुनु में उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा. साउथ अफ़्रीका एयरवेज़ ने घोषणा की है कि वह लोगों को कुनु ले जाने के लिए अतिरिक्त विमान उड़ाएगा.

केप टाउन के सिटी हॉल के बाहर मंडेला को याद करने के लिए आयोजित एक सर्वधर्म सभा में सैकड़ों लोगों ने भाग लिया. जोहानेसबर्ग स्टॉक एक्सचेंज ने शुक्रवार को अपना काम पांच मिनट तक स्थगित रखा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार