भ्रष्टों को 'पीटने' में दिलचस्पी नहीं चीनियों की

चीन भ्रष्टाचार से लड़ो वीडियो गेम

क्या आप किसी भ्रष्ट चीनी अधिकारी को हिंसात्मक ढंग से सज़ा देना चाहेंगे? बहरहाल चीन के सरकारी मीडिया ने ऑनलाइन गेमर्स को यह प्रस्ताव दिया है- लेकिन यूज़र्स ही इसमें दिलचस्पी नहीं ले रहे.

चीन में बढ़ते भ्रष्टाचार पर चीन के सरकारी अख़बार द पीपुल्स डेली ने एक अनोखा रुख अख़्तियार किया है.

साइना वीबो सोशल नेटवर्क पर अपने उपवर्ग, पीपल्स नेट पर एक पोस्ट में लिखा गया है, "भ्रष्ट अधिकारी डरे हुए हैं."

"चाहे वो 'बाघ' हों या 'मक्खी' इलेक्ट्रॉनिक छड़ी हिलाओ और उनका पर्दाफ़ाश करो."

यह चीनी मीडिया के मशहूर रूपक वाला बयान नहीं है. अगर आप लिंक पर क्लिक करते हैं तो आप खास ढंग के एक वीडियो गेम में पहुंच जाते हैं.

वहां आपके हाथ में एक इलेक्ट्रिक रॉड (बिजली की छड़ी) दी जाती है, जिससे आप 'भ्रष्ट अधिकारियों पर हमला' कर सकते हैं, उन्हें 'बिजली का झटका' दे सकते हैं.

'पीपुल्स नेट मूर्खतापूर्ण'

चीन में भ्रष्ट अधिकारियों के ख़िलाफ़ अभियान एक बड़ा मुद्दा है. अब यह संवेदनशील मुद्दा या हौवा नहीं रह गया है.

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने पिछले साल अक्टूबर में अपने एक भाषण में सार्वजनिक रूप से कहा था कि घपला करने किसी भी अधिकारी को नहीं छोड़ा जाएगा. जिनपिंग ने ऐसे बड़े और छोटे अधिकारियों के लिए "बाघ" और "मक्खी" शब्दों का इस्तेमाल किया था.

बीबीसी मॉनीटरिंग में चीनी मीडिया के विश्लेषक कियांग ज़ैंग कहते हैं, "द पीपुल्स डेली कम्युनिस्ट पार्टी का मुख्य मुखपत्र है."

"यह लोगों के नज़दीक आने की एक कोशिश है जिसकी पार्टी को अपने प्रचार अभियान के लिए ज़रूरत है."

वीडियो गेम में आप इलेक्ट्रिक रॉड से उन अधिकारियों को मार सकते हैं, जिनकी आंखों में दिल बने हुए हैं- यह उन बहुत से अधिकारियों का प्रतीक है, जिनकी कई प्रेमिकाएं थीं. दूसरे किस्म के भ्रष्ट अधिकारियों के हाथ में एक लाल स्टैंप है, जो अनुबंध पारित किया करते थे. और तो और इस गेम के तहत आप पुलिस अधिकारियों को भी पीट सकते हैं, जिसके एक बार में 100 प्वाइंट्स मिलते हैं.

इसके साथ ही यह लिखा होता है, "भ्रष्टाचार से लड़ना सभी की ज़िम्मेदारी है. आइए खुद को भ्रष्टाचार विरोध के हाई-स्कोर लिस्ट में शामिल कीजिए."

अब तक यह कोशिश चीन के प्रतियोगी सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म पर औंधे मुंह गिरती ही नज़र आई है. कुल 123 शेयर और 32 टिप्पणियां चीनी औसत के लिहाज से बेहद कम हैं क्योंकि वहां अरबों ऑनलाइन यूज़र हैं.

ज़्यादातर टिप्पणियां व्यग्यात्मक हैं. एक में कहा गया है, "अब मुझे समझ आया कि पीपुल्स नेट कितना मूर्खतापूर्ण है."

एक दूसरी टिप्पणी में सवाल है, "भ्रष्टाचार से जंग, गेम खेलकर?"

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार