ब्राज़ील: पुलिस ने 12 को गोलियों से भूना

ब्राज़ील इमेज कॉपीरइट AFP

ब्राज़ील में गोलीबारी की एक घटना में पुलिस की भूमिका की पड़ताल की जा रही है जिसमें 12 लोग मारे गए थे.

साओ पाउलो के उत्तर में बसे कैम्पिनास ज़िले की इस घटना में रात के वक्त बंदूकधारियों ने वाहनों पर गोलियां चलाई थीं.

गोलीबारी की इस घटना से कुछ घंटे पहले एक पुलिसकर्मी, लूटपाट की घटना में मारा गया था.

लूटपाट के वक्त यह पुलिसकर्मी ड्यूटी पर नहीं था.

जांचकर्ताओं ने बीबीसी को बताया है कि मृतक पुलिसकर्मी के साथी गोलीबारी की इस घटना में शामिल हो सकते हैं.

हमलावरों ने कारें रुकवाई और पहले बच्चों को बड़ों से अलग किया और फिर उन्हें गोली मार दी.

सूत्रों ने बीबीसी को बताया है कि हमलावरों ने जिस तरह के हथियारों का इस्तेमाल किया, वैसे हथियार सैन्य-पुलिस के पास होते हैं.

हिंसा और आगज़नी

स्थानीय मीडिया की ख़बरों में कहा गया है कि मारे गए लोगों में कई लोग ऐसे थे जिनका आपराधिक रिकॉर्ड रहा है.

इमेज कॉपीरइट AFP

एक पुलिस अधिकारी ने स्थानीय अख़बार को बताया कि जांचकर्ताओं की नज़र में ये तथ्य महत्वपूर्ण है कि हमले सिलसिलेवार तरीके से चंद घटों के भीतर हुए और एक ही इलाके में हुए.

उनका कहना है कि इस घटना की अन्य पहलुओं से भी पड़ताल की जा रही है. इसमें ये पहलू भी शामिल है कि ये घटना दो विरोधी गुटों के बीच संघर्ष का नतीजा हो सकती है.

जांच का एक पहलू ये भी है कि ये क़ानून को ख़ुद हाथ में लेकर किसी को सज़ा देने का मामला भी हो सकता है.

बीबीसी के गैरी डफ़ी का कहना है कि गोलीबारी की इस घटना के बाद कैम्पिनास बस अड्डे पर हमला भी हुआ. ये बस अड्डा उसी इलाके में है जहां हत्याएं की गई थीं.

दोपहर के समय बीस से अधिक नक़ाबपोशों ने तीन बसों और एक कार में आग लगा दी. सात अन्य वाहनों में भी तोड़फोड़ की गई.

कैम्पिनास की आबादी दस लाख से अधिक है. साउ पाउलो से सौ किलोमीटर दूर बसा ये शहर ब्राज़ील की सबसे अधिक आबादी वाला शहर है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार