बीबीसी वर्ल्ड के चर्चित एंकर कोमला ड्यूमोर का निधन

कोमला ड्यूमोर

बीबीसी टीवी के चर्चित प्रेजेंटर कोमला ड्यूमोर का निधन हो गया है. वे 41 वर्ष के थे. लंदन स्थित उनके घर पर उनकी मौत हुई.

बीबीसी वर्ल्ड न्यूज़ और इसके चर्चित कार्यक्रम फ़ोकस ऑन अफ़्रीका से जुड़े कोमला का जन्म घाना में हुआ था.

वर्ष 2007 में वे बीबीसी के साथ जुड़े थे. बीबीसी ग्लोबल न्यूज़ के निदेशक पीटर होरॉक्स ने अपनी संवेदना में कहा है कि कोमला अफ़्रीकी पत्रकारिता की रोशनी थे, जिनकी कमी काफ़ी महसूस होगी.

एक बयान में होरॉक्स ने कहा, "कोमला के कई मित्र और सहयोगियों के साथ-साथ पूरी दुनिया इस ख़बर को सुनकर उतने ही सदमे में होगी, जितने हम हैं. बीबीसी के उनके सभी सहयोगियों की सहानुभूति उनके परिवार और मित्रों के प्रति है."

कोमला का जन्म घाना की राजधानी अकरा में तीन अक्तूबर 1972 को हुआ था. यूनिवर्सिटी ऑफ़ घाना से उन्होंने समाजशास्त्र और मनोविज्ञान में ग्रेजुएशन किया था. बाद में उन्होंने हावर्ड यूनिवर्सिटी से पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन में मास्टर्स की डिग्री हासिल की.

पत्रकारिता

क़रीब एक दशक तक अपने देश घाना में पत्रकारिता करने के बाद उन्होंने 2007 में बीबीसी ज्वाइन किया. उन्हें 2003 में घाना जर्नलिस्ट ऑफ़ द ईयर का पुरस्कार भी मिला था.

2007 से 2009 तक उन्होंने बीबीसी वर्ल्ड सर्विस रेडियो के लिए नेटवर्क अफ़्रीका कार्यक्रम का संचालन किया. उसके बाद वे द वर्ल्ड टुडे कार्यक्रम से जुड़ गए.

वर्ष 2009 में कोमला बीबीसी वर्ल्ड न्यूज़ पर अफ़्रीका बिजनेस रिपोर्ट के पहले होस्ट बने.

उन्होंने कई अफ़्रीकी देशों का दौरा किया और वहाँ से शीर्ष उद्योगपतियों से मिले और महादेश की उद्योग जगत से जुड़ी ताज़ा तरीन ख़बरों की रिपोर्टिंग भी की.

उन्होंने कई जानीं-मानीं हस्तियों का इंटरव्यू भी किया. जिनमें बिल गेट्स और कोफ़ी अन्नान भी शामिल थे.

पिछले महीने ही उन्होंने दक्षिण अफ़्रीका के पूर्व राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला के अंतिम संस्कार की रिपोर्टिंग की थी. उन्होंने मंडेला को आधुनिक इतिहास के महानतम शख़्सियतों में से एक कहा था.

उन्होंने कई महत्वपू्र्ण मौक़े पर लाइव कवरेज़ की एंकरिंग भी की थी. जिनमें वर्ष 2010 में दक्षिण अफ़्रीका में हुआ विश्व कप फ़ुटबॉल, किम जोंग इल का अंतिम संस्कार, इसराइली सैनिक गिलाद सालित की रिहाई, नॉर्वे में हुई गोलीबारी और प्रिंस विलियम और केट मिडल्टन की शादी भी शामिल थी.

(क्या आपने बीबीसी हिन्दी का नया एंड्रॉएड मोबाइल ऐप देखा? डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार