पेशावर में पोलियो उन्मूलन अभियान फिर टला

  • 26 जनवरी 2014
पाकिस्तान, पोलियो Image copyright Getty

पाकिस्तान के सूबे ख़ैबर पख़्तूनख़्वाह की राजधानी पेशावर में पोलियो उन्मूलन अभियान एक बार फिर स्थगित कर दिया गया है.

पेशावर के अधिकारियों का कहना है इस कार्यक्रम को सुरक्षाकर्मियों की कमी के कारण स्थगित किया गया है.

पेशावर में पोलिया टीका कार्यक्रम के सहायक निदेशक कम्यूनिकेशन डॉ. कलीम ने बीबीसी से बात करते हुए इस बात की पुष्टि की.

पेशावर में पिछले कुछ दिनों के दौरान दूसरी बार पोलियो उन्मूलन अभियान स्थगित किया गया है. इससे पहले पिछले सोमवार को देशभर में पोलियो उन्मूलन अभियान शुरू किया गया था, लेकिन सुरक्षा चिंताओं और कुछ अन्य कारणों से पेशावर, हरिपुर और चितराल में पोलियो बूँदें नहीं पिलाई गईं थीं.

डॉ. कलीम ने बीबीसी से कहा कि पेशावर में होने वाली परेडों और सभाओं के चलते हुई सुरक्षाकर्मियों की संख्या में कमी आई है, जिसके कारण रविवार से शुरू होने वाला पोलियो उन्मूलन अभियान स्थगित कर दिया गया है.

उन्होंने कहा कि पोलियो उन्मूलन अभियान के लिए सभी तैयारियां पूरी थी और इस बारे में सभी टीमें संबंधित क्षेत्रों तक पहुंच भी गईं थी लेकिन अचानक रात को फ़ैसला लिया गया कि शहर में सुरक्षा अपर्याप्त है, इसलिए अभियान को स्थगित कर दिया गया.

धार्मिक पार्टी

डॉ. कलीम ने कहा कि पेशावर में आज एक धार्मिक पार्टी द्वारा सम्मेलन किया जा रहा है और इसके लिए भी सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं, तो ऐसे में यह संभव नहीं था कि पोलियो कार्यकर्ताओं को सुरक्षा दी जा सके.

पिछले सप्ताह विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा था कि पेशावर दुनिया भर में पोलियो वायरस का सबसे बड़ा गढ़ है और देश में 90 प्रतिशत पोलियो वायरस आनुवांशिक तौर पर पेशावर से जुड़ा है.

पाकिस्तान में पोलियो उन्मूलन अभियान में शामिल स्वयंसेवकों और उनकी सुरक्षा के लिए तैनात सुरक्षाकर्मियों पर हमले में असाधारण वृद्धि हुई है.

ख़ैबर पख़्तूनख़्वाह में सबसे ज़्यादा हमले हुए हैं और पिछले साल के आंकड़ों के अनुसार हमले में 17 लोग मारे गए हैं और क़रीब 20 लोग घायल हुए हैं.

मरने वालों में महिला स्वयंसेवकों के अलावा सुरक्षाकर्मी भी शामिल हैं. इसके अलावा देश के सबसे बड़े शहर कराची में भी पोलियो अभियान टीमों पर होने वाले हमलों में बढ़ोत्तरी हुई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार