थाईलैंड में मतदान से पहले चली बंदूक़ें

  • 2 फरवरी 2014
थाईलैंड Image copyright Reuters

थाईलैंड में रविवार को संसदीय चुनाव हो रहे हैं. ये चुनाव ऐसे समय हो रहे हैं जब सरकार विरोधी प्रदर्शन पूरे देश में जारी हैं. ख़ासतौर पर राजधानी बैंकॉक में इनका ज्यादा असर देखने को मिल रहा है.

मुख्य विपक्ष दल ने चुनाव का बहिष्कार किया है और इस दौरान राजधानी बैंकॉक और आसपास के इलाकों में सरकार के समर्थकों और विरोधियों के बीच हिंसा होती रही.

कुछ जगहों पर धमाके हुए हैं और कहीं-कहीं गोलियां भी चली हैं जिसमें कई लोग घायल हुए हैं.

इस पूरे घटनाक्रम में चुनाव अधिकारियों को भी समझ में नहीं आ रहा है कि उन्हें आख़िर करना क्या है.

बैंकॉक के राजथेवी ज़िले के मतदान केंद्र पर तैनात एक चुनाव अधिकारी का कहना है, ''चुनाव समिति ने जो निर्देश दिए हैं, वे अभी तक स्पष्ट नहीं हैं. मसलन एक बड़े अधिकारी ने मुझसे कहा कि घर पर ही रहो, लेकिन तैयार रहो. हमें फिर भी यहां आना पड़ा है, लेकिन पता नहीं है कि करना क्या है.''

'कर्मचारियों की कमी'

एक अन्य चुनावी अधिकारी लक्सना रोजथामरोंग का कहना है कि चुनाव कराने के लिए कर्मचारियों को खोजना तक मुश्किल था.

Image copyright Getty

उन्होंने अपनी मुख्य समस्या बताते हुए कहा, ''हमारे पास मतदान केंद्रों पर काम करने के लिए पर्याप्त कर्मचारी नहीं हैं. मसलन राजथेवी ज़िले के 86 मतदान केंद्रों के लिए कुल 700 कर्मचारियों की ज़रूरत है, लेकिन हमारे पास बस 200 लोग हैं.''

Image copyright Getty

थाईलैंड में जारी इन विरोध-प्रदर्शनों की शुरुआत बीते साल नवम्बर में तब हुई थी जब देश के निचले सदन ने एक विवादित विधेयक पारित किया था.

Image copyright REUTERS

विपक्ष का कहना है कि इस विधेयक के ज़रिए देश के पूर्व प्रधानमंत्री थाक्सिन चिनावाट की वापसी का मार्ग प्रशस्त हो सकता है.

थाक्सिन पर भ्रष्टाचार के आरोप हैं और वे देश से बाहर हैं. विपक्ष का मानना है कि विधेयक के प्रावधानों के तहत, थाईलैंड वापसी पर थाक्सिन को जेल की सज़ा भी नहीं होगी.

Image copyright AFP

थाक्सिन की बहन यिंगलक चिनावाट थाईलैंड की मौजूदा प्रधानमंत्री हैं.

विपक्ष का आरोप है कि यिंगलक अपने भाई थाक्सिन के इशारे पर सरकार चलाती रही हैं.

विपक्ष चाहता है कि यिंगलक इस्तीफ़ा देकर नये सिरे से चुनाव कराएं. लेकिन उन्होंने इस्तीफ़ा नहीं दिया है.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार