ट्विटर को 64.5 करोड़ डॉलर का घाटा

  • 6 फरवरी 2014
ट्विटर इमेज कॉपीरइट

माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर को साल 2013 में 64.5 करोड़ डॉलर का घाटा हुआ है.

कंपनी ने गुरुवार को यह जानकारी दी. कंपनी तीन महीने पहले ही न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध हुई थी.

ट्विटर का राजस्व पिछले साल 110 प्रतिशत बढ़कर 66.5 करोड़ डॉलर पहुँच गया था और विश्लेषक इस घाटे की उम्मीद कर रहे थे.

लेकिन यूज़रों की संख्या में धीमी वृद्धि निवेशकों के लिए चिंता का विषय है.

ट्विटर पर साल की तीसरी तिमाही में यूज़रों की संख्या औसतन 24.1 करोड़ प्रति माह रही जो कि पिछली तिमाही से महज 3.8 प्रतिशत अधिक है.

इससे यूज़रों की संख्या में कमी का पता चलता है जबकि साल की शुरुआत में वृद्धि दर 10 प्रतिशत थी.

(ट्विटर पर फ़ासीवादियों का इलाज करूंगाः लालू)

ट्विटर के टाइमलाइन व्यूज में क़रीब सात प्रतिशत की कमी आई है जिससे साफ़ है कि यूज़रों ने अपने फ़ीड को रिफ्रेश करना कम कर दिया है.

गिरावट

स्टर्न, एगी एंड लीच कंपनी से जुड़े विश्लेषक अरविंद भाटिया ने कहा, "इस रिपोर्ट से यह सवाल उठेगा कि एक प्लेटफॉर्म के रूप में ट्विटर कितना कारगर है."

बुधवार को ट्विटर के शेयरों में 12 प्रतिशत तक की गिरावट देखी गई.

रिसर्च फ़र्म फोरेस्टर के विश्लेषक नेट एलियट ने समाचार एजेंसी एएफ़पी से कहा, "अगर आपके यूज़र बेस समर्पित नहीं है तो आप बिज़नेस नहीं कर सकते हैं. कुल मिलाकर कहानी यही है कि आपको अपने यूज़र पर ध्यान देना होगा."

(जब ट्विटर पर होगी परीक्षा की तैयारी)

ट्विटर को पिछले साल नवंबर में न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध किया गया था और तब कंपनी की क़ीमत क़रीब 18 अरब डॉलर आंकी गई थी. तबसे कंपनी के शेयरों की क़ीमत दोगुनी हो चुकी है.

लेकिन इस बात को लेकर विश्लेषकों में मतभेद है कि कंपनी निवेशकों को रिटर्न दे पाएगी या नहीं.

ट्विटर के मुताबिक़ साल 2013 के अंतिम तीन महीनों में उसे 51.1 करोड़ डॉलर का घाटा हुआ लेकिन उसका राजस्व दोगुना से भी ज़्यादा बढ़कर 24.3 करोड़ डॉलर पहुँच गया.

कस्टम टाइमलाइंस

इमेज कॉपीरइट PA
Image caption ट्विटर का कहना है कि उसकी एडवरटाइजिंग कमाई का 75 फ़ीसदी हिस्सा स्मार्टफ़ोंस जैसे मोबाइल प्लेटफॉर्म से आता है.

ट्विटर ने कहा कि वो कस्टम टाइमलाइंस जैसे इनहांसमेंट्स को लांच करके अपने यूज़र अनुभव को सुधार रही है. साथ ही डायरेक्ट मैसेज़ के ज़रिए तस्वीरें भेजने और प्राप्त करने पर भी काम हो रहा है.

लेकिन कंपनी का कहना है कि वह साथ ही एडवरटाइजरों के लिए अपनी सेवाओं को सुधारने का काम जारी रखेगी ताकि राजस्व को बढ़ाया जा सके.

(...और यूं चुराया गया ख़ास ट्विटर यूज़रनेम)

ट्विटर की कमाई एडवरटाइजिंग स्पेस और ट्वीटिंग हैबिट पर डेटा बेचकर होती है.

पिछली तिमाही में कंपनी का 90 प्रतिशत से अधिक राजस्व एडवरटाइजिंग से आया.

कंपनी का कहना है कि एडवरटाइजिंग से होने वाली कमाई का तीन-चौथाई हिस्सा स्मार्टफ़ोंस जैसे मोबाइल प्लेटफॉर्म से आता है.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार