दो पोप, एक साल और कितना बदला वेटिकन?

वेटिकन में पोप इमेज कॉपीरइट Reuters

28 फ़रवरी, 2013 को बेनेडिक्ट सोलहवें ने इस्तीफ़ा दिया था और उसके 13 दिन बाद अर्जेंटीना के कार्डिनल जॉर्ज मारियो बर्गोगलियो यानी पोप फ़्रांसिस नए पोप बने थे.

पोप बेनेडिक्ट सोलहवें ने ठीक एक साल पहले अचानक जब सेहत को वजह बताते हुए इस्तीफ़े की घोषणा की थी तो दुनिया भर में उनके चाहने वालों को सदमा लगा था.

अचरज की बात थी कि पिछले 600 साल में किसी पोप ने इस्तीफ़ा नहीं दिया था.

दूसरे अचरज की बात ये थी कि रोम के पास कास्टेगनडोल्फ़ो में स्थित पोप समर विला में आराम के थोड़े दिन बिताने के बाद उन्होंने तय किया कि वे फिर से वेटिकन सिटी में ही रहेंगे.

आजकल वे सेंट पीटर बासिलिका के ठीक पीछे स्थित मेटर एक्लेसी में रह रहे हैं.

अब सवाल ये है कि पुराने पोप और नए पोप ने एक जगह रहते हुए सब कुछ कैसे संभाला?

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption पोप फ्रांसिस की साप्ताहिक प्रार्थना सभाओं में लोगों की भीड़ दोगुनी हो गई है.

जब मध्य युग के दौरान यूरोप के विभिन्न हिस्सों में राजनीतिक कारणों से पोप पद के लिए प्रतिद्वंद्वी चुने जाते थे तो चर्च के भीतर भ्रम और तनाव का वातावरण पैदा हो जाता था.

मगर यहां मामला हट कर है. एक पोप का कार्यकाल समाप्त होना और दूसरे का कार्यभाल संभालना, सब शांतिपूर्वक रहा.

टेलिफ़ोन और चिट्ठी

पोप बेनेडिक्ट अपने उत्तराधिकारी पोप फ़्रांसिस से बस कुछ सौ मीटर की ही दूरी पर रहते हैं.

दोनों पोप एक दूसरे से कभी-कभी मिलते हैं और टेलिफोन और चिट्ठी के ज़रिए आपस में संवाद बनाए रखते हैं.

कभी दुनिया के बेहद हाई प्रोफ़ाइल शख़्सियतों में शुमार रहे पोप बेनेडिक्ट अब ख़ुद को चर्चाओं से दूर ही रखते हैं.

वेटिकन के आधिकारिक प्रवक्ता फ़ादर फ़ेडरिको लोम्बार्डी कहते हैं, "उन्होंने सार्वजनिक जीवन से दूरी बना ली है. मगर इसका मतलब ये नहीं कि वे अलग थलग पड़ गए हैं."

86 वर्षीय पूर्व पोप अपना ज़्यादातर वक़्त पढ़ने, प्रार्थना करने, अध्ययन करने, पत्राचार से निपटने और लोगों से मिलने जुलने में बिता रहे हैं.

कभी-कभी वक़्त निकाल कर वे विशाल अपोस्तोलिक पैलेस से अपने साथ लेकर आए पियानो पर मोजार्ट और बिथोवेन की धुनें भी बजा लेते हैं.

वेटिकन में स्थित उनके नए घर की देखभाल आज भी वही चार सहायिकाएं रखती हैं जो पोप के पद पर होते हुए उनके आवास का ख़्याल रखने के लिए नियुक्त की गई थीं.

हमेशा की तरह कामकाज

क्रिसमस से ठीक पहले अपने जन्मदिन मनाने के लिए पोप फ्रांसिस ने वेटिकन सिटी में आधुनिक होटल शैली के आवास कासा सांता मार्टा होटल में एक पार्टी दी थी जिसमें उन्होंने बेनेडिक्ट को मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित किया था.

इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption पोप बेनेडिक्ट अपने नए उत्तराधिकारी पोप फ्रांसिस से बस कुछ सौ मीटर की ही दूरी पर रहते हैं.

कासा सांता मार्टा वेटिकन का वही गेस्ट हाउस है जिसे पोप बेनेडिक्ट ने रहने के लिए चुना है.

ऊपरी तौर पर देखा जाए तो वेटिकन में पिछले एक साल में दो पोप के रहते ज़्यादा कुछ नहीं बदला.

हां, पोप फ़्रांसिस ने कुछ नई महत्वपूर्ण नियुक्तियां ज़रूर की हैं जैसे कि पोप के सहायक, या सचिव की. मगर मोटे तौर पर यही कहा जाएगा कि यहां की साप्ताहिक गतिविधियां पहले की तरह ही अपनी गति से चल रही हैं.

दुनिया भर से बिशप अपने प्रदेश की गतिविधियों की पांच वर्षीय सलाना रिपोर्ट बनाने के लिए रोम पहुंचने लगे हैं.

दोनों बॉस ख़ुश हैं

इमेज कॉपीरइट associated press
Image caption वेटिकन में पोप बेनेडिक्ट का नया आवास मेटर एक्लेसी. यह पोप फ्रांसिस के आवास से कुछ सौ मीटर दूर है.

पोप बेनेडिक्ट के इस्तीफ़ा देने के बाद से पोप की बुधवार को होने वाली प्रार्थना सभा में और रविवार को उनसे आर्शीवाद लेने के लिए आने वाले लोगों की संख्या पहले की तुलना में दोगुनी हो गई है.

इससे साफ़ ज़ाहिर होता है कि पोप बेनेडिक्ट के उत्तराधिकारी की दुनिया भर में लोकप्रियता बढ़ रही है. फ़्रांसिस पहले ऐसे पोप हैं जो लातिन अमरीका से हैं.

आश्चर्य नहीं कि पोप फ़्रांसिस को टाइम मैगज़ीन ने 'पर्सन ऑफ़ द ईयर' घोषित किया है. साथ ही 'न्यू योर्कर' और स्थानीय पोप संगीत पत्रिका 'रॉलिंग स्टोन' में भी उनके बारे में चर्चाएं हो रही हैं.

आर्चबिशप जार्ज गेंस्वेन एक दशक से पोप बेनेडिक्ट के निजी सचिव रहे हैं. वे भी पूर्व पोप के साथ एक ही कॉन्वेंट में रह रहे हैं.

वे उन गिने चुने लोगों में से हैं जिन्हें रोज ही दोनों पोप से मिलने का मौका मिलता है. क्योंकि पोप फ़्रांसिस के लिए डायरी और काम काज का प्रबंधन भी उन्हें ही करना होता है.

आर्चबिशप ने रॉयटर्स न्यूज़ एजेंसी को बताया "मैं दोनों पोप के बीच एक सेतु बनने का कोशिश कर रहा हूं. और मैं इस ख़ूबसूरत कोशिश में काफ़ी सफल भी हो रहा हूं. मुझे लगता है कि मेरे दोनों बॉस ख़ुश हैं."

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार