गुमनाम इमारतों की दिल दहला देने वाली खोज

सोवियत रूस में अर्बन एक्स्प्लरेशन इमेज कॉपीरइट ZORGE RICHARD.LIVEJOURNAL.COM

सोवियत संघ के दौर की विशालकाय इमारतों और औद्योगिक ढांचों की नए सिरे से तलाश करना कुछ युवाओं को बेहद पसंद है. उनकी ये तलाश रोमांचक तो है ही, लेकिन इसके लिए जिगर भी मज़बूत होना चाहिए.

'अर्बन एक्स्प्लरेशन' के नाम से मशहूर इस शौक़ में ऊंची इमारतों, टॉवर और पुलों पर चढ़ना, या काफ़ी अधिक गहराई तक उतरना शामिल है.

रूस में बड़ी संख्या में औद्योगिक इकाइयां हैं और इनमें से कुछ ऐसे हैं जिनका इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है और वो ख़ाली पड़ी हैं.

फ़ोटोग्राफ़ी

वादिम माखोरोव ने पूर्वी रूस में स्थित इस बिजली प्लांट के पानी के पाइप पर चढ़कर तस्वीरें लेने से पहले उसके मालिक की मंज़ूरी ली.

इमेज कॉपीरइट DEDMAXOPKA.LIVEJOURNAL.COM

शहरों की खोज करने वाले कई लोग एक कुशल फ़ोटोग्राफ़र भी होते हैं. विताली रास्कालोव बताते हैं, "जब आपको आकाश में सितारे मिल जाते हैं तो शब्दों की क्या ज़रूरत है."

विताली की तस्वीर में किरिल वसेलेंस्की मॉस्को की एक बिल्डिंग की शोभा बढ़ाने वाले सोवियत युग के एक रेड स्टार से चिपके हुए हैं.

ज़ोखिम

इमेज कॉपीरइट RASKALOV VIT.LIVEJOURNAL.COM

लेकिन ज़ाहिरी तौर पर इन कारनामों के साथ ज़ोखिम तो जुड़े ही रहते हैं. यह ऐसा शौक़ नहीं है, जिसे बढ़ावा दिया जाए. कई खोजकर्ता तो हेलमेट पहनने की ज़हमत भी नहीं उठाना चाहते हैं. इस दौरान कम से कम एक व्यक्ति की मौत की भी ख़बर है.

इमेज कॉपीरइट RASKALOV VIT.LIVEJOURNAL.COM

जनरल कोस्मोसा की तस्वीर में एक अर्बन एक्स्प्लोरर नीपर नदी पर बने एक पुल की चोटी पर आराम कर रहा है. यह यूक्रेन का सबसे ऊंचा पुल है, जिसकी ऊंचाई 135 मीटर है. इन तस्वीरों को खींचना कई बार ज़ोखिम भरा होता है.

क़ानून

इमेज कॉपीरइट VANH1TO.LIVEJOURNAL.COM

रूस के क़ानूनों के मुताबिक़ निजी संपत्ति में बिना इजाज़त दाख़िल होने पर थोड़ा जुर्माना देना पड़ता है, लेकिन आमतौर पर ख़ाली पड़ी इमारतों में प्रवेश करने में किसी तरह की क़ानूनी बाधा नहीं है.

इमेज कॉपीरइट SAMNAMOS.LIVEJOURNAL.COM

सैम नमोस बताते हैं, "मुझे भूले-बिसरे स्थानों का माहौल सबसे अधिक आकर्षित करता है. उन्हें देखते का तरीक़ा धड़कनों को बढ़ा देता है. अगर आप इसके लिए गंभीर हैं तो आप अपने देश के बारे में काफ़ी कुछ सीख सकते हैं. आप कई रहस्यों की खोज कर सकते हैं."

नज़रिया

इमेज कॉपीरइट LIVEJOURNAL.COM

ओलीना जिनचेंको बताते हैं, "अर्बन एक्स्प्लरेशन फ़ोटोग्राफ़ी हमारे शहरों को अंदर से दिखाती है. ये तस्वीरें इसलिए जीवंत हैं क्योंकि ये बिल्कुल अलग नज़रिए के साथ शहरों को हमारे सामने रखती हैं."

वो बताते हैं कि ये तस्वीरें इसलिए भी महत्वपूर्ण हैं क्योंकि वो पूर्व सोवियत संघ के औद्योगिक पतन की कहानी भी बयां करती हैं.

अनोखी खोज

इमेज कॉपीरइट LIVEJOURNAL.COM

यारोस्लाव सेगेदा कहते हैं, "पूर्वी यूक्रेन में एक जिप्सम की खदान की खोज शायद मेरा सबसे बेहतरीन काम था. एक छिपे हुए दरवाज़े के ज़रिए मैं ज़मीन के अंदर एक ऐसे शहर में पहुंच गया जहां ट्रैफ़िक सिग्लन बने हुए थे और 20 मीटर लंबी सुरंगें थीं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार