वह रोज़ लिखते हैं कई दर्जन प्रेम पत्र

बामाको इमेज कॉपीरइट
Image caption दाहिनी तरफ अलासानी मैगा हैं और साथ में हैं, एक ग्राहक.

प्यार ज़ाहिर करने के हज़ार अंदाज़ होते हैं और हर ग्राहक के लिए अलग तरह का अंदाज़ चुनना ही अलासाने मैगा का काम है.

माली की राजधानी बमाको में अलासाने प्रेम को अभिव्यक्त करने का काम करते हैं.

शहर के मुख्य डाकघर 'ला ग्रैंड पोस्ट' के बाहर की बेंच पर 10 लेखक बैठते हैं. देश की 70 फ़ीसदी आबादी के अनपढ़ होने के कारण लोग इन 'लेखकों' से अपनी चिट्ठियां लिखवाने और फ़ॉर्म भरवाने में मदद लेते हैं.

मगर इस हफ़्ते मैगा और उनके सहयोगी चिट्ठी लिखने या फ़ॉर्म भरने का काम नहीं कर रहे बल्कि आजकल वे अलग ही अंदाज़ में लोगों की मदद कर रहे हैं.

मौका वैलेंटाइन डे यानि 'प्रेम दिवस' का है. मैगा कहते हैं, "जब वैलेंटाइन डे आता है तो हमें ख़ूब फ़ायदा होता है."

दिन-रात प्रेम लेखन

बमाको में बीबीसी संवाददाता एलेक्स डूवल स्मिथ बताते हैं कि बमाको काफ़ी बड़ा और प्रेम में डूबा हुआ शहर है.

वैलेंटाइन डे के दिन क़रीब आते ही ये लेखक इतने व्यस्त हो जाते हैं कि उन्हें न तो दिन की ख़बर होती है और न ही रात की.

कई बार तो काम इतना ज़्यादा होता है कि वे डाकघर की सीढ़ियों पर ही रात गुज़ार देते हैं.

मैगा के सामने अनगिनत पार्सलों और कार्डों का अंबार लगा हुआ है. उनको इन पर फ्रांसीसी भाषा में 'मोन अमार' यानि 'मेरे प्यार' और 'जे टेमी' यानि 'आई लव यू' जैसे शब्द लिखने हैं.

यही नहीं मैगा को प्रेम की कविताएं लिखने के लिए भी समय निकालना है. इसके लिए वे चार डॉलर लेते हैं. यह क़ीमत चिट्ठी लिखने के लिए ली जाने वाले मेहनताने से चार गुना ज़्यादा होती है.

प्यार के ज़्यादा पैसे

वैलेंटाइन डे के पहले हफ़्ते में लेखक ज़्यादातर प्रेम को अभिव्यक्त करने वाले शब्द लिखने में लगे रहते हैं.

'फूल' और 'चांद' जैसे शब्द लिखने के लिए साल के इस महीने वह ज़्यादा पैसे लेते हैं.

रोचक बात ये है कि लेखक जो प्रेम पत्र लिखते हैं वे अलग-अलग आकार और प्रकार के होते हैं और इसको लिखने के लिए वे ख़ासी मेहनत करते हैं.

मैगा को किसी के लिए प्रेम पत्र लिखने के पहले दो व्यक्तियों के बीच मुहब्बत और अहसास की गहराई का अंदाज़ा लगाना पड़ता है. जैसे कि प्यार नया-नया हुआ है, या सालों पुराना है?

"जिस प्रेम के बारे में बात हो रही है, वह कैसा है?" जैसे सवालों के ज़रिए पहले मामले को समझना होता है.

रूमानी मिज़ाज?

लेखक के लिए प्रेम पत्र या कविताएं लिखने के पहले यह जानना ज़रूरी होता है कि प्रेमी अपनी प्रेमिका को लुभाने की कोशिश कर रहा है, रिझाने की, या बहकाने की?

या क्या प्रेम करने वाला 'बिलेट डाउक्स' यानि 'प्रेम पत्र' में अपनी सफ़ाई देने की कोशिश कर रहा है कि वह बेवफ़ा नहीं है?

Image caption वैलेंटाइन डे के नज़दीक आते ही लेखक प्रेम पत्र लिखने में दिन-रात व्यस्त रहते हैं.

साथ ही यह भी देखना होता है कि ये पत्र किसी प्रेमी या प्रेमिका के लिए लिखा जाना है, या दफ़्तर के किसी सहकर्मी के लिए?

मगर सबसे ज़्यादा ज़रूरी यह समझना होता है कि उनका ग्राहक कैसा है- वह पढ़ा लिखा है, सामान्य समझ का है, या बुद्धिजीवी है? उसका मिज़ाज रोमांटिक है या रुखा है?

मैगा बताते हैं, "हमें हर ग्राहक का मिज़ाज भांपना पड़ता है."

वह यह भी बताते हैं कि कभी-कभी वे उनके पास महिलाएं भी खत लिखवाने आती हैं.

मैगा स्वीकार करते हैं कि डाकघर के बाहर बैठे कुछ लोगों के लिए चिट्ठी लिखना बस 'एक काम' भर होता है. मगर 15 सालों के बाद उनके लिए चिट्टी लिखना एक संजीदगी भरा काम है.

उनका कहना है, "लोगों की सेवा ही मेरा लक्ष्य है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार