सीरिया में लड़ते रहेंगे हिज़्बुल्लाह लड़ाके: नसरल्लाह

हिज़्बुल्ला इमेज कॉपीरइट Reuters

लेबनान के शिया चरमपंथी संगठन हिज़्बुल्लाह के नेता हसन नसरल्लाह ने कहा है कि उनके लड़ाके सीरिया में सरकारी सेनाओं के साथ कंधे से कंधा मिलाकर लड़ते रहेंगे.

नसरल्लाह ने रविवार को टेलीविज़न पर प्रसारित संबोधन में अरब जगत की राजनीतिक ताक़तों का आह्वान करते हुए कहा कि वे सीरिया में युद्ध बंद करें.

उन्होंने कहा कि अगर ऐसा होता है तो हिज़्बुल्लाह लड़ाके सीरिया से बाहर निकल जाएंगे.

हिज़्बुल्लाह की मौजूदगी से लेबनान में जातीय तनाव उभर रहा है और सीरिया में चल रहे गृहयुद्ध की आंच सीमापार भी महसूस की जा रही है.

सीरिया में हिज़्बुल्लाह के लड़ाके राष्ट्रपति बशर अल-असद का साथ दे रहे हैं जबकि लेबनान के सुन्नी मुसलमानों की हमदर्दी विपक्ष के साथ है.

आत्मघाती हमले

लेबनान की राजधानी बेरूत और उत्तरी शहर त्रिपली में हाल के महीनों में हुए कई आत्मघाती हमलों में दर्जनों लोग मारे गए हैं.

शिया और सुन्नी चरमपंथियों को इन हमलों के लिए ज़िम्मेदार माना जाता रहा है.

शेख हसन नसरल्लाह ने कहा कि उनके लड़ाके तब तक असद की फ़ौजों का साथ देंगे जब तक 'तकफ़ीरी' यानी सुन्नी चरमपंथी हार नहीं जाते.

हिज़्बुल्लाह के तीन नेताओं के मारे जाने की बरसी पर उन्होंने कहा, "हम अपने रुख़ पर क़ायम रहेंगें, हमारी नीति में कोई बदलाव नहीं आया है."

इमेज कॉपीरइट AP

उन्होंने कहा कि उनका संगठन अल-क़ायदा से जुड़े सुन्नी चरमपंथियों को सीरिया में सत्ता पर क़ब्ज़ा नहीं करने देगा.

चेतावनी

उन्होंने साथ ही चेतावनी दी कि सीरिया की भी वही हालत हो सकती है जो सोवियत फ़ौजों के जाने के बाद अफ़ग़ानिस्तान की हुई थी.

नसरल्लाह ने कहा, "यह ऐसा ख़तरा है जिसका डर लेबनान के हर व्यक्ति को सता रहा है. अगर सीरिया के विद्रोही सीमा के इलाक़ों पर क़ब्ज़ा कर लेते हैं तो उनका लक्ष्य लेबनान को अपने इस्लामी राज्य में मिलाना होगा."

उन्होंने कहा कि लेबनान में हाल में हुए कार बम धमाके उसी लड़ाई का हिस्सा हैं.

नसरल्लाह ने साथ ही सीरिया में विद्रोहियों का साथ दे रहे सऊदी अरब और दूसरे देशों की आलोचना करते हुए उन्हें पाखंडी बताया.

हिज़्बुल्लाह लड़ाकों की मदद से असद की सेना ने राजधानी दमिश्क़ के आसपास से इलाक़ों तथा सीरिया-लेबनान सीमा पर अपनी स्थिति मज़बूत कर ली है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार