इंटरनेट कानून के विरोध में घटे राष्ट्रपति के फॉलोवर

टर्की के राष्ट्रपति अब्दुल्लाह गुल इमेज कॉपीरइट AFP

टर्की में इंटरनेट विधेयक को जल्द ही कानूनी जामा मिलने की उम्मीद है. ऐसे में इस विधेयक का विरोध करने वालों ने देश के राष्ट्रपति पर दबाव बनाना शुरू कर दिया है और इस कवायद के तहत ट्विटर पर उनके फॉलोवरों की संख्या में तेज़ी से कमी आई है.

टर्की की संसद ने इंटरनेट पर नियंत्रण बढ़ाने के लिए हाल में एक विधेयक को पास किया है. लेकिन इस नए विधेयक को लेकर सोशल मीडिया पर विरोध के सुर मुखर होने लगे हैं.

इस बिल का मकसद निजता के बनाए रखना है, लेकिन इसका विरोध कर रहे लोगों का कहना है कि इससे अभिव्यक्ति की आजादी कमजोर होगी.

इस कानून के खिलाफ अभियान चला रहे लोगों को उम्मीद थी कि राष्ट्रपति अब्दुल्लाह गुल इस विधेयक को रोकने के लिए कदम उठाएंगे.

अब्दुल्लाह खुद भी सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय रहते हैं और ट्विटर पर उनके 43 लाख फॉलोवर हैं.

लेकिन मंगलवार को राष्ट्रपति गुल ने जैसे ही इस बिल की तारीफ की, उसके तुरंत बाद ट्विटर पर उनके फॉलोवरों की संख्या में तेजी से कमी आने लगी.

पढें: इंटरनेट की आजादी को खतरा

हैशटैग कैंपेन

राष्ट्रपति को निशाना बनाकर एक हैशटैग कैंपेन शुरू किया गया जिसका नाम था - #अनफॉलोअब्दुल्लाहगुल. इस हैशटैग का 80,000 से अधिक बार इस्तेमाल किया गया. इस अभियान के चलते ट्विटर पर राष्ट्रपति के फॉलोवरों की संख्या में 96,000 से अधिक की कमी दर्ज की गई.

सबसे पहले इस हैशटैग का इस्तेमाल करने वालों में प्राग के टूर गाइड आल्तान सेनोवा बताते हैं, "यह विडंबना है कि राष्ट्रपति इंटरनेट पर नियंत्रण को मंजूरी देने की घोषणा ट्विटर के ज़रिए करते हैं."

राष्ट्रपति अब्दुल्लाह गुल ने अपने फॉलोवरों की संख्या में अचानक आई गिरावट के बारे में सार्वजनिक रूप से कुछ नहीं कहा है, लेकिन उन्होंने अपनी सफाई देते हुए ट्विट किया कि उनकी मुख्य चिंता प्राइवेसी बनाए रखने को लेकर है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार