क्या जर्मनी यूरोप का 'वेश्यालय' बन गया है?

रिसेप्शन हॉल में लाल और सफेद लबादों में पुरुषों का झुंड चहलकदमी कर रहा है और ऊंची हील की सैंडिल पहने महिलाएं बार में बैठकर सिगरेट के छल्ले बनाते हुए अपने ग्राहकों से हंसी ठट्ठा कर रही हैं.

यह है जर्मनी के स्टटगार्ट का 'पैराडाइज़'- यूरोप के सबसे बड़े वेश्यालयों में से एक. और यह क़ानूनी है.

साल 2008 में खुला यह वेश्यालय लगभग 60 लाख यूरो (क़रीब 51 करोड़ रुपए) से भी ज़्यादा लागत से बना है. यहां रेस्टोरेंट, सिनेमाघर, स्पा और हर दिन आने वाले सैकड़ों पुरुष ग्राहकों के लिए 31 निजी कमरे बने हुए हैं.

जर्मनी ने साल 2002 में देह व्यापार को क़ानूनी रूप दे दिया था. माना जाता है कि यहां यह उद्योग 16 अरब यूरो (1360 अरब रुपए) का हो चुका है.

किसी अन्य पेशे की तरह ही वेश्यावृत्ति को मान्यता देने के पीछे विचार था कि महिलाओं की कमाई को दलालों से मुक्त कर दिया जाए, जो कि सामान्य रूप से देह व्यापार को चलाते हैं.

पेंशन योजना

इमेज कॉपीरइट Reuters

जर्मनी में सेक्स वर्कर अब पेंशन योजना के तहत अपनी हिस्सेदारी अदा कर सकती हैं और स्वास्थ्य बीमा का दावा कर सकती हैं.

बर्लिन में दो साल तक एक वेश्यालय में काम करने के बाद यहां पहुंचीं 22 वर्षीय हन्ना कहती हैं, ''आप यहां सुरक्षित महसूस कर सकते हैं. यह फुटपाथ की तरह नहीं है जहां आप अंदाजा नहीं लगा सकते कि आपके साथ क्या घट सकता है.''

लेकिन आलोचकों का कहना है कि देह व्यापार से संबंधित क़ानून के बारे में जर्मनी का उदारवादी रवैया असाधारण रूप से असफल हो चुका है.

उनका कहना है कि वेश्यावृत्ति को मान्यता देने से देश 'यूरोप का वेश्याघर' बन गया है.

समझा जाता है कि पिछले 20 सालों में सेक्स वर्कर्स की संख्या दोगुना होकर चार लाख के ऊपर पहुंच चुकी है.

बाजार में 'विशाल वेश्यालयों' का दबदबा है, जहां सेक्स को लगभग औद्योगिक पैमाने पर मुहैया कराया जाता है, ख़ासकर विदेशी पर्यटकों को.

स्टटगार्ट के पैराडाइज़ में काम करने वाली ज़्यादातर महिलाएं रोमानिया व बुल्गारिया जैसे पूर्वी यूरोप के देशों से आती हैं.

स्वीडिश मॉडल

हालांकि नारीवादी एलिस शॉर्जर जर्मनी के इस क़ानून को पलटने की मुहिम चला रही हैं और स्वीडन के मॉडल को अपनाने की वकालत कर रही हैं जहां वेश्यावृत्ति तो क़ानूनी है लेकिन यह केवल सेवा देने तक सीमित है.

यानी, अगर कोई पुरुष सेक्स वर्कर के साथ पकड़ा जाता है तो उसे भारी जुर्माने का सामना करना पड़ता है. महिला पर जुर्माना नहीं लगाया जाता.

इस मॉडल को पूरे यूरोप में समर्थन मिल रहा है और सात देशों में इसे अपनाने पर विचार चल रहा है, ख़ासकर फ़्रांस इसे लेकर ख़ासा गंभीर है.

इमेज कॉपीरइट PA

देह व्यापार पर ब्रिटेन में दो साल तक चली संसदीय जांच अगले महीने प्रकाशित होने वाली है. संभावना जताई जा रही है कि स्वीडन के मॉडल को अपनाने के लिए इसमें सुझाव आएगा.

अभी ब्रिटेन में देह व्यापार तकनीकी रूप से क़ानूनी है लेकिन वेश्याघर चलाना ग़ैरक़ानूनी है.

स्टटगार्ट के इस विशाल वेश्यालय और अन्य चार की मालिकाना हक़ रखने वाली श्रृंखला पैराडाइज़ आइलैंड एंटरटेनमेंट, जल्द ही फ़्रांस की सीमा से कुछ सौ मीटर नजदीक जर्मनी के शहर सारब्रुखेन में अपना नया वेश्यालय खोलने जा रही है.

'प्रतिबंध असंभव'

कंपनी के मार्केटिंग चीफ माइकेल बेरेटिन के अनुसार, वेश्यावृत्ति को प्रतिबंधित करना संभव नहीं है. फ्रांस में जो कुछ हो रहा है वह बेमतलब है. आप एक पुरुष पर उस काम के लिए मुकदमा नहीं चला सकते जिसे महिला करना चाहती है.

सारब्रुखेन में सीमापार बढ़ते देह व्यापार से आलोचक चिंतित हैं और उनका दावा है कि नियमित वेश्यालयों के बावजूद फुटपाथ पर वेश्यावृत्ति में भारी इजाफ़ा हो रहा है.

मंगलवार को यूरोप की संसद में स्वीडिश मॉडल को अपनाए जाने पर मतदान होना है. इससे सीमापार देह व्यापार में वृद्धि की संभावना जताई जा रही है.

हालांकि यहां हुआ फ़ैसला किसी यूरोपीय देश के लिए बाध्य नहीं है लेकिन इसके पास होने से सरकारों पर दबाव बनेगा कि वे देह व्यापार के मुद्दे पर पुनर्विचार करें.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार