प्रमुख तालिबान कमांडर की हमले में मौत

शाहीन इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption शाहीन पाकिस्तानी तालिबान के अंतरिम प्रमुख भी रहे थे.

पाकिस्तान के क़बाइली इलाक़े उत्तरी वजीरिस्तान में एक गाड़ी पर फ़ायरिंग की घटना में एक अहम तालिबान कमांडर असमतुल्लाह शाहीन की तीन साथियों समेत मौत हो गई है.

ये हमला आज सुबह एजेंसी हेडक्वार्टर मीरान शाह बाज़ार से कुछ दूर दता खेल रोड पर दरगाह मंडी में हुआ.

सरकारी अधिकारियों ने बताया है कि असमतुल्लाह शाहीन दो साथियों और ड्राइवर के साथ जा रहे थे. उन पर अज्ञात हमलावरों ने अचानक गाड़ी पर फ़ायरिंग कर दी.

स्थानीय लोगों और सरकारी अधिकारियों के मुताबिक इस हमले में तालिबान कमांडर, उनके दोनों साथियों और ड्राइवर की मौत हो गई. अब तक यह पता नहीं चल सका है कि उन पर हमला किसने किया.

असमतउल्लाह शाहीन तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान के अहम कमांडर थे. तहरीक के पूर्व प्रमुख हकीमुल्लाह महसूद की मौत के बाद असमतउल्लाह शाहीन को नया प्रमुख चुने किए जाने तक कार्यवाहक प्रमुख नियुक्त किया गया था.

असमतउल्लाह शाहीन दक्षिणी वजीरिस्तान के साथ भटनी क़बीले से ताल्लुक रखते थे और तहरीक तालिबान में उनकी अहम भूमिका थी. उनके बारे में मालूम हुआ है कि वे सख़्त फ़ैसले किया करते थे.

असमतुल्लाह शाहीन तहरीक तालिबान के पूर्व प्रमुख बैतुल्लाह महसूद के दौर में उन के अहम सहयोगी के तौर पर काम करते रहे थे और उन्होंने सरकार समर्थक समूहों के साथ झड़पों में हिस्सा लिया था.

तालिबान के इस विरोधी धड़े के नेता हाजी तुर्कमानिस्तान थे. असमतुल्लाह शाहीन के बारे में अधिकारियों ने बताया है कि उन्होंने टांक के क़रीब मुलाज़ी से 2011 में फ्रंटियर कॉर्पस के क़रीब 20 से ज़्यादा अधिकारियों के अपहरण और हत्या में अहम भूमिका निभाई थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार