इराक़: हिल्ला चौकी पर हमला, 32 की मौत

आत्मघाती हमला इमेज कॉपीरइट Reuters

अधिकारियों का कहना है कि इराक़ में रविवार को हिल्ला जांच चौकी पर संदिग्ध आत्मघाती बम हमले में कम से कम 32 लोग मारे गए हैं और 150 अन्य ज़ख़्मी हुए हैं.

हमलावर एक मिनी बस में सवार था जिसमें विस्फोटक भरे थे. धमाके की वजह से महिलाओं-बच्चों समेत आम नागरिक और सुरक्षा बलों के जवान मारे गए.

वे लोग भी धमाके की चपेट में आ गए जो अपनी कारों में सवार होकर जांच चौकी पर खड़े थे.

इराक़ी पुलिस का कहना है कि मिनी बस में तरल ईंधन भरा था जो शायद गैसोलीन था.

हिल्ला प्रांतीय परिषद के उपाध्यक्ष अक़ील अल रुबेई ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स से कहा है कि इस हमले के पीछे चरमपंथी संगठन अल-क़ायदा का हाथ हो सकता है.

इराक़ में अगले महीने चुनाव होने हैं. हिल्ला शिया बहुल आबादी वाला शहर है जो राजधानी बग़दाद से दक्षिण में 60 किलोमीटर दूर स्थित है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

इराक़ में हाल के महीनों में हिंसा की घटनाओं में तेज़ी आई है. पड़ोसी देश सीरिया भी गृह-युद्ध की चपेट में है.

इराक़ में पहले भी जातीय हिंसा होती रही है लेकिन इतने लोग इससे पहले कभी नहीं मारे गए हैं.

संयुक्त राष्ट्र का कहना है कि वर्ष 2013 में इराक़ में 8,868 लोग मारे गए थे. वहीं इस वर्ष जनवरी और फ़रवरी में 1400 से अधिक लोग मारे जा चुके हैं.

इराक़ी प्रधानमंत्री नूरी अल मलिकी ने सऊदी अरब और क़तर पर आरोप लगाया है कि वे इराक़ को अस्थिर करने का प्रयास कर रहे हैं और इसके लिए चरमपंथी गुटों को वित्तीय मदद मुहैया करा रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार