माइकेलएंजेलो का डेविड बंदूक़ नहीं रख सकता..

डेविड, माइकलएंजेलो इमेज कॉपीरइट ap
Image caption डेविड को यूरोपीय पुनर्जागरण काल की महान कलाकृति मानी जाती है.

इटली के संस्कृति मंत्रालय ने एक अमरीकी हथियार कंपनी के विज्ञापन में माइकेलएंजेलो की मशहूर शिल्पकृति डेविड को राइफ़ल पकड़े हुए दिखाए जाने पर नाराज़गी जताई है.

इतालवी नेता डेरिओ फ्रांसिसिनी ने कहा कि यह एक अपराध है और क़ानून का उल्लंघन है.

इटली की कई वेबसाइटों ने डेविड की राइफ़ल लिए हुए तस्वीर प्रकाशित की है.

डेविड यूरोपीय पुनर्जागरण काल के मशहूर शिल्पकार माइकेलएंजेलो की कृति है. इटली निवासी माइकेलएंजेलो ने इसकी रचना संभवतः सन् 1501 से 1504 के बीच की थी.

डेविड बाईबिल में वर्णित एक चरित्र है. उनका ज़िक्र ओल्ड टेस्टामेंट और न्यू टेस्टामेंट दोनों में हुआ है.

अमरीका के इलिनॉय स्थित हथियार कंपनी आर्मालाइट का यह विज्ञापन तीन हज़ार डॉलर की क़ीमत वाली एक राइफ़ल का है. इसमें चित्र के साथ कैप्शन है, ''ए वर्क ऑफ आर्ट'' यानी एक कलाकृति.

राइफ़ल का विज्ञापन

फ्रांसिसिनी ने इस कंपनी से अपील की है कि वो एआर-50ए1 के इस विज्ञापन को वापस ले ले.

एक ट्वीट में उन्होंने कहा, ''डेविड की हथियार लिए हुए यह तस्वीर अपराध और क़ानून का उल्लंघन है. अगर इस अमरीकी कंपनी ने विज्ञापन को वापस न लिया, तो वो उसके ख़िलाफ़ कार्रवाई करेंगे.''

'हिस्टोरिकल हेरिटेज एंड फ़ाइन आर्ट बोर्ड' की अध्यक्ष क्रिस्टीना एसिडिनी ने तस्वीर वापस लेने के लिए आर्मालाइट को एक नोटिस भेजा है. इस नोटिस में एक कलाकृति को विकृत करने का आरोप लगाया गया है.

सरकार ने कहा है कि उसके पास डेविड की मूर्ति का व्यावसायिक उपयोग करने का अधिकार है.

यह मूर्ति फ़्लोरेंस एकैडमिया गैलरी में लगी है. इसके निदेशक एंज़लो तारतूफेरी ने रिपब्लिसिया नाम के एक अख़बार से कहा, ''क़ानून कहता है कि कलात्मक वस्तु के सौंदर्य को विकृत नहीं किया जा सकता.''

उन्होंने कहा, ''यह मामला न केवल ख़राब चयन का है बल्कि पूरी तरह ग़ैरक़ानूनी भी है.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार