ग़ायब हुए मलेशियाई विमान ने 'बदला था रास्ता'

लापता मलेशियाई विमान, तलाश इमेज कॉपीरइट Reuters

मलेशियाई वायुसेना का कहना है कि लापता हुए विमान ने ग़ायब होने से पहले अपना निर्धारित रास्ता बदल दिया था.

एयरफ़ोर्स अधिकारियों के अनुसार सेना के राडारों से पता चला है कि ग़ायब होने से पहले विमान निर्धारित रास्ते से बायीं ओर मुड़ गया था.

शनिवार को मलेशिया एयरलाइंस के विमान एमएच-370 कुआलालंपुर से बीजिंग के लिए उड़ान भरने के कुछ घंटे बाद ही लापता हो गया. फ़्लाइट में 239 लोग सवार हैं.

विमान को ढूंढने के लिए की जा रही कोशिशों को बढ़ा दिया गया है.

अभी तक इस विमान के बारे में कोई ख़बर नहीं मिली है. व्यापक तलाशी अभियान अभी भी जारी है.

'चरमपंथी नहीं'

चार दिन पहले उड़ान भरने के कुछ घंटों बाद ही विमान से एयरक्रॉफ़्ट कंट्रोल टावर का संपर्क टूट गया था.

इससे पहले पता चला था कि लापता विमान में दो ईरानी नागरिक चोरी के पासपोर्टों के साथ यात्रा कर रहे थे.

मलेशिया पुलिस ने बताया कि इनमें से एक ईरानी युवक का नाम पौरिया नूर मोहम्मद मेहरदाद है. 18 वर्षीय मेहरदाद शायद जर्मनी जा रहा था.

इंटरपोल ने दूसरे यात्री की पहचान 29 साल के दिलावर सेवाद मोहम्मद रज़ा के रूप में की.

इंटरपोल और मलेशिया पुलिस के अऩुसार दोनों ईरानियों ने मलेशिया आने के लिए सही ईरानी पासपोर्ट का इस्तेमाल किया था और फिर लापता हो चुके विमान पर सवार होने के लिए चोरी के यात्री दस्तावेज़ों का इस्तेमाल किया.

मलेशिया पुलिस का कहना है कि शनिवार को लापता हुए विमान में सवार इन लोगों के चरमपंथियों से संबंध होने की आशंका नहीं है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार