विमान के उपकरण के साथ छेड़छाड़: मलेशियाई पीएम

नजीब रज़्ज़ाक़ इमेज कॉपीरइट AFP

मलेशिया के प्रधानमंत्री नजीब रज़्ज़ाक़ ने कहा है कि पिछले एक सप्ताह से लापता विमान की तलाश अभी जारी है. शनिवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि विमान के अग़वा किए जाने की ख़बरों के बीच वो यहीं कहेंगे कि अभी किसी नतीजे पर पहुंचना मुश्किल है और सभी संभावनाओं की जांच की जा रही है.

रज़्ज़ाक़ ने कहा कि शनिवार की सुबह जांच अधिकारियों ने उन्हें जांच के बारे में तफ़सील से जानकारी दी.

उनका कहना था, ''सैटेलाइट और रडार ट्रैकिंग के ज़रिए मिले नए सुबूतों के आधार पर कहा जा सकता है कि विमान की गतिविधि विमान में मौजूद किसी व्यक्ति के ज़रिए जानबूझकर की जाने वाली कार्रवाई जैसी थी. विमान के संचार उपकरण जानबूझकर बंद कर दिए गए थे.''

उन्होंने कहा कि वह काफ़ी विश्वस्त तरीक़े से यह कह सकते हैं कि विमान में लगे ट्रांसपोर्डर को जानबूझकर बंद कर दिया गया.

उनका कहना था, ''हमने जांच का दायरा और बढ़ा दिया है और 14 देश तलाशी अभियान में जुटे हुए हैं.''

प्रधानमंत्री ने कहा कि लापता विमान की जांच अब नए चरण में दाख़िल हो रही है जिसके तहत विमान में सवार यात्रियों और चालक दल के सदस्यों पर ध्यान केंद्रित किया जा रहा है.

ग़ौरतलब है कि मलेशियाई एयरलाइंस का विमान एम एच 370 पिछले शनिवार को मलेशिया की राजधानी कुआलालम्पुर से चीन की राजधानी बीजिंग के लिए रवाना होने के एक घंटे बाद रहस्यमय तरीक़े से रडार स्क्रीन से ग़ायब हो गया था.

विमान में 239 लोग

इस विमान में पांच भारतीय, भारतीय मूल के एक कनाडाई नागरिक और चालक दल के 12 सदस्य समेत कुल 239 लोग सवार थे.

इमेज कॉपीरइट Getty

तलाशी अभियान में दक्षिण पूर्व एशिया के 14 देशों की नौसेनाएं एवं सैन्य विमानों के लगे होने के बावजूद अभी तक विमान या उसके मलबे का कुछ पता नहीं चल पाया है.

भारत ने जेटलाइनर का पता लगाने के लिए गुरुवार को चार युद्धपोत तैनात किए.

लापता मलेशियाई विमान की तलाश करने का अभियान हिंद महासागर तक विस्तृत कर दिया गया.

पिछले सप्ताह ऐसी ख़बरें आई थीं कि विमान शायद अंडमान द्वीप की ओर उड़ा होगा, हालांकि विमान को लेकर रहस्य बना रहा था.

एक ख़बर में कहा गया था कि विमान बोइंग 777-200 मलय प्रायद्वीप को पार करते हुए अंडमान द्वीप की ओर से उड़ा होगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार