नौ महीने का बच्चा हत्या के प्रयास के आरोपों से मुक्त

  • 12 अप्रैल 2014
मूसा ख़ान बरी Image copyright GEO TV

पाकिस्तान की एक अदालत ने नौ महीने के एक बच्चे को हत्या के प्रयास के आरोप से मुक्त कर दिया है. इस बच्चे पर परिवार के 12 अन्य सदस्यों के साथ ये आरोप लगाया गया था.

नौ महीने के बच्चे मोहम्मद मूसा ख़ान को हत्या की साज़िश रचने, पुलिस को धमकाने और सरकारी काम में हस्तक्षेप करने के आरोप में शनिवार को दूसरी बार लाहौर की एक अदालत में पेश किया गया.

लेकिन जज ने कहा कि इस मामले को अदालत में लाया ही नहीं जाना चाहिए था. इससे पहले पुलिस प्रमुख ने कहा कि उन्होंने मामले जांच कर रहे अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई का आदेश दिया है.

छोटी सी उम्र के बावजूद मूसा ख़ान को उन 30 लोगों में शामिल किया गया जिन पर लाहौर में बिजली और गैस आपूर्ति को लेकर हो रहे प्रदर्शन के दौरान हुए टकराव के समय एक पुलिस अधिकारी की हत्या करने के आरोप लगे हैं.

सुर्खि़यों में मूसा ख़ान

जब इस बच्चे को पहली बार अदालत में पेश किया गया तो पाकिस्तानी टीवी चैनलों पर उसकी तस्वीरें प्रसारित की गईं जिसमें वो अपने पिता की गोद में बैठा बोतल से दूध पी रहा है.

उसकी दादी को पत्रकारों से ये पूछते हुए दिखाया गया, “वो अपनी दूध की बोतल तक उठाना नहीं जानता है. तो वो कैसे पुलिस पर पथराव कर सकता है?”

बीबीसी संवाददाता माइक वुल्ड्रिज ने बताया कि शनिवार को अदालत में पेशी के दौरान मूसा ख़ान शांत था जबकि पहली पेशी के दौरान जब उसका अंगूठा लगाया गया तो वो रो रहा था.

बीबीसी संवाददाता के मुताबिक मूसा ख़ान पाकिस्तान के बाहर भी सुर्खियों में आ गया है. मूसा ख़ान को आरोपों से मुक्ति मिल गई है जबकि अन्य लोगों के ख़िलाफ़ मुकदमा जारी रहेगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार