यूक्रेनः शुरू हुआ 'चरमपंथ विरोधी' अभियान

यूक्रेन में चरमपंथ विरोधी कार्रवाई इमेज कॉपीरइट

यूक्रेन के अंतरिम राष्ट्रपति ओलेक्जेंडर तुर्चिनोव ने रूस समर्थक लड़ाकों के ख़िलाफ़ 'चरमपंथ विरोधी कार्रवाई' की शुरूआत कर दी है.

राष्ट्रपति ने संसद को जानकारी दी है कि दोनेत्स्क इलाके के उत्तरी हिस्से में चरमपंथ विरोधी कार्रवाई शुरू कर दी गई है. उन्होंने आगे बताया कि यह अभियान "इलाके में बेहद ज़िम्मेदाराना ढंग से क़दम दर क़दम आगे बढ़ाया" जा रहा है.

मिल रही जानकारी के मुताबिक़ यूक्रेन की सेना ने क्रेमातोर्स्क शहर के हवाई क्षेत्र में रूस समर्थक लड़ाकों के ख़िलाफ़ अभियान की शुरूआत कर दी है.

इसके पहले अमरीकी और रूसी राष्ट्रपति ने फ़ोन पर यूक्रेन के मौजूदा संकट की चर्चा की.

बराक ओबामा ने ब्लादीमिर पुतिन से आग्रह किया कि वे दोनेत्स्क और यूक्रेन के पूर्वी हिस्सों से अलगाववादियों को वापस बुलाने के लिए अपने प्रभाव का इस्तेमाल करें.

मगर पुतिन ने इस आरोप से इंकार किया कि रूस यूक्रेन संकट में किसी तरह का हस्तक्षेप कर रहा है.

युद्ध जैसी परिस्थितियां

इमेज कॉपीरइट AFP

रूस की कई समाचार एजेंसियों ने ये जानकारी जारी की है कि क्रेमातोर्स्क के उस हवाई अड्डे पर गोलीबारी हुई है जिसपर पहले रूस सर्मथक लड़ाकों ने क़ब्ज़ा कर लिया था. यहां से किसी के हताहत होने की भी ख़बर आ रही है लेकिन उसकी अभी तक पुष्टि नहीं हुई है.

रूसी समर्थक विद्रोहियों ने क़रीब 10 शहरों और यूक्रेन के पूर्वी प्रांत के कई क़स्बों के सरकारी इमारतों को अपने क़ब्ज़े में ले लिया है. ये इलाके यूक्रेन के भारी उद्योग-धंधों के गढ़ माने जाते हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

रूसी सेना की हज़ारों टुकड़ियों के सीमा पर तैनात होने की सूचना मिल रही है. आशंका जताई जा रही है कि विद्रोहियों पर किसी भी तरह की कड़ी कार्रवाई से युद्ध जैसी परिस्थितियां पैदा हो सकती हैं.

आतंक की रोकथाम

अलग होने और आत्मनिर्णय के अधिकार पर किए गए जनमत संग्रह पर विवाद पैदा होने के बाद रूस ने पिछले महीने यूक्रेन के प्रांत पर क़ब्ज़ा कर लिया था.

इमेज कॉपीरइट AFP

तुर्चिनोव का कहना है कि दोनेत्स्क में शुरू की गई कार्रवाई का उद्देश्य "यूक्रेन के नागरिकों की सुरक्षा, आतंक की रोकथाम और देश को बांटने की कोशिश को नाकाम करना है."

राजधानी कीएफ की संसद के बाहर अलगाववादियों के खिलाफ कदम उठाने की मांग करते हुए प्रदर्शनकारी इकट्ठे हुए.

बीबीसी के डेनियल सैंडफोर्ड ने जानकारी दी है कि कई दिनों से यूक्रेन सरकार पूर्वी यूक्रेन में अपने अधिकार का इस्तेमाल करने में कोई खास दिलचस्पी नहीं दिखा रही थी, मगर मंगलवार को दोनेत्स्क में अलगाववादियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का प्रदर्शन देखा गया.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार