यूक्रेन गृहयुद्ध के कगार पर है: पुतिन

व्लादिमिर पुतिन इमेज कॉपीरइट AP

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने कहा है कि यूक्रेन "गृहयुद्ध के कगार पर" है. पुतिन का यह बयान यूक्रेन के रूस समर्थक अलगाववादियों के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने के लिए सेना भेजने के बाद आया है.

पुतिन ने जर्मन चांसलर एंगेला मर्केल को फ़ोन पर इस क़दम को 'तेज़ से हुआ बदलाव' बताया है.

मंगलवार को यूक्रेन ने देश के पूर्व में एक "आतंकवाद विरोधी अभियान' की शुरुआत की घोषणा की थी.

रूस ने पिछले महीने क्राईमिया को अपने कब्जे में लिया है. माना जा रहा है कि रूस ने यूक्रेन सीमा पर हज़ारों सैनिक तैनात हैं.

मर्केल के साथ पुतिन की बातचीत के बारे में क्रेमलिन ने कहा, "रूसी राष्ट्रपति ने टिप्पणी की है कि संघर्ष में तेज़ी से आए बदलाव का नतीजा देश को गृहयुद्ध के कगार पर पहुँचाने के रूप में होगा. "

दोनों देशों के बीच वार्ता

इस बयान में कहा गया है कि दोनों नेताओं ने रूस, यूरोपीय संघ, अमरीका और यूक्रेन के वरिष्ठ राजनयिकों के बीच गुरुवार को आयोजित चौतरफा वार्ता के "महत्व पर जोर दिया है" .

इमेज कॉपीरइट AP

रूस के बयान में पूर्वी यूक्रेन में यूक्रेनी सैन्य अभियान को "शांतिपूर्ण विरोध कार्रवाई के ख़िलाफ़ ग़ैर-संवैधानिक बल प्रयोग" के रूप में वर्णित किया गया है.

पूर्वी यूक्रेन में लगभग 10 शहरों और क़स्बों में रूस समर्थक विद्रोहियों के द्वारा इमारतों पर कब्जा करने के बाद दोनों देशों के बीच फिर तनाव बढ़ गया है.

ये विद्रोही यूक्रेन से अलग होने के लिए अधिक स्वायत्तता या जनमत संग्रहों की मांग कर रहे हैं.

ब्रिटेन के विदेश मंत्री विलियम हेग ने कहा कि रूस ने इमारतों पर कब्जे के लिए "छोटे गुप्त" सशस्त्र समूहों को भेजा था.

गंभीर परिणाम

इमेज कॉपीरइट Reuters

लंदन में उन्होंने कहा कि रूस को " लंबे वक़्त तक गंभीर परिणाम " भुगतने होंगे अगर वह यूक्रेन को अस्थिर करने का प्रयास जारी रखता है तो.

अमरीका और यूक्रेन ने रूस पर यूक्रेन को अस्थिर करने का आरोप लगाया है. रूस इस आरोप से इनकार करता रहा है.

पिछले साल यूक्रेन के तत्कालीन राष्ट्रपति विक्टर यानुकोविच के यूरोपीय संघ के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर करने से इनकार के बाद उनके ख़िलाफ़ प्रदर्शनों का दौर शुरू हो गया था.

देश में इन विरोध-प्रदर्शनों के दौरान सौ से अधिक लोगों की मौत हो गई थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार