पाकिस्तानः हमलों में पुलिस अधिकारी समेत 19 की मौत

पाकिस्तान कराची हमला इमेज कॉपीरइट AFP

अधिकारियों का कहना है कि पाकिस्तान के उत्तर पश्चिमी हिस्से में हुए हवाई हमले में 16 संदिग्ध चरमपंथियों की मौत हो गई है. एक दूसरे हमले में दक्षिणी पाकिस्तान के कराची में एक आत्मघाती हमला हुआ है जिसमें एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी और दो अन्य की मौत हो गई है.

करांची में चरमपंथी विरोधी अभियानों के लिए जाने जाने वाले वरिष्ठ पुलिस अधिकारी शफीक तानोली पर आत्मघाती हमला तब हुआ जब वे घर के नजदीक एक दूकान में कुछ दोस्तों के साथ बैठे हुए थे.

हाल के कुछ महीनों में पाकिस्तान में चरमपंथी हमलों में मारे जाने वाले हाई-प्रोफाइल सुरक्षा अधिकारियों में तानोली का नंबर दूसरा है.

संवाददाताओं का कहना है कि तानोली कराची में चरमपंथियों के साथ निपटने के लिए अपरंपरागत तरीकों का इस्तेमाल करते थे. इस महीने की शुरूआत में उन्होंने कराची में एक घर पर अवैध तरीके से छापा मारने का आदेश दिया था जिसके कारण वे निलंबित कर दिए गए थे.

युद्ध-विराम

इमेज कॉपीरइट AFP

इधर पाकिस्तानी अधिकारियों ने बताया है कि पाकिस्तान के उत्तर-पश्चिम इलाके में हुए एकहवाई हमले में कम से कम 16 संदिग्ध चरमपंथी मारे गए हैं. ये हमला पाकिस्तानी वायु सेना की ओर से किया गया है.

समाचार एजेंसी एपी ने तीन सैन्य अधिकारियों के हवाले से बताया है कि सेना ने अफ़गान सीमा से सटे क़बायली जिले खैबर की तिराह घाटी में दो चरमपंथी ठिकानों पर सैन्य लड़ाकू जेट विमान से हवाई हमले किए हैं. इन अधिकारियों ने अपना नाम गुप्त रखने के आश्वासन पर ये जानकारी दी है.

दो सैन्य अधिकारियों का कहना है कि सेना को इस क्षेत्र में कुछ चरमपंथियों के छिपे होने की खबर मिलने के बाद ये कदम उठाना पड़ा. माना जा रहा है कि इस्लामाबाद में हाल में हुए चरमपंथी हमलों में इनका हाथ था. उन्होंने ये भी बताया कि हवाई हमले के अलावा सेना की ज़मीनी टुकड़ियां भी इस ऑपरेशन में भाग ले रही है.

बताया जा रहा है कि तिराह घाटी में सेना का अभियान जारी है.

समाचार एजेंसी एएफपी के अनुसार हमले में मारे गए चरमपंथी पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में इस महीने के शुरूआत में हुए बम धमाकों के संदिग्ध हैं. उस बम हमले में 23 लोग मारे गए थे.

पाकिस्तान तालिबान ने पिछले महीने घोषित युद्ध विराम संधि को औपचारिक रूप से समाप्त कर दिया है. मगर पाकिस्तान में कमजोर पड़ रही शांति प्रक्रिया को फिर से शुरू करने का प्रयास जारी रखा गया है.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार