गोदाम में लगी आग, उड़ गईं डिब्बे में बंद मछलियां

स्वीडन में आग इमेज कॉपीरइट Therese Nilsson

स्वीडेन में एक गोदाम में लगी आग से वहां रखी डिब्बे में बंद मछलियां आसमान में उड़ने लगीं.

स्थानीय मीडिया के अनुसार पूर्वी तट पर बने गोदाम में लगी आग की वजह से उसके अंदर रखी डिब्बा बंद मछलियां आसमान में यूं उड़ने लगीं जैसे कोई मिसाइल उड़ रही हो.

वैसे कमरे की छत पर सो रहे चार अन्य लोग आग से सही सलामत बच निकले.

गोदाम में 'सुसस्ट्रोमिंग' के 1000 टीन के डब्बे रखे थे. जिसमें मछलियां भरी हुई थीं.

'सुसस्ट्रोमिंग' उत्तरी स्वीडन का एक पारंपरिक भोजन है जिसे तैयार करने के लिए मछलियों को महीनों खुली हवा में फरमेंट किया जाता है. बाद में उन्हें टीन के डिब्बो में बंद कर दिया जाता है.

इमेज कॉपीरइट Therese Nilsson

फरमेंटेशन की प्रक्रिया टीन के डिब्बों में भी लगातार चलती रहती है.

आग का कारण

आग लगने से वहां रखी मछलियों से भरे केन के डिब्बे फट पड़े जिसमें से जली हुई मछलियों की दुर्गंध चारों ओर फैलने लगी.

मछलियों से भरे टीन के डिब्बों में फरमेंटेशन की वजह से पहले से गैस भरी हुई थी. आग लगने के कारण वह गर्म हो गई और छह घंटे के भीतर डिब्बे बम की तरह फटने लगे.

इमेज कॉपीरइट Getty

एक टीन का डिब्बा उछल कर बाहर की तरफ बने घर की छत पर गिरा, तो दूसरा डिब्बा सीधा पड़ोसी की छत पर जा पहुंचा.

असहनीय गंध

स्वीडेन रेडियो से बातचीत में गोदाम के मालिक एन्स एरिक एनग्लुंड ने बताया, "इसकी गंध इतनी भयानक थी कि ऐसा लग रहा था जैसे कोई सड़ी हुई हेरिंग मछली पका रहा हो."

उनका कहना था कि घटना इतनी डरावनी थी कि उसे याद न करना ही मेरे दिमाग के लिए अच्छा है.

उनके मुताबिक, "आग बुझाने आए लोग भी आश्चर्यचकित थे."

'सुसस्ट्रोमिंग' से निकलने वाली गंध असहनीय होती है. इसलिए अक्सर इसे कमरे के बाहर परोसा जाता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार