चाय बनाने वाली आठ लाख की मशीन

बकन की चाय बनाने वाली मशीन इमेज कॉपीरइट bkon

क़रीब 13 हज़ार डॉलर या क़रीब आठ लाख रुपए मूल्य की एक मशीन को बनाने वाली कंपनी का कहना है कि यह मशीन बेहतरीन चाय बनाएगी.

मशीन बनाने वाली कंपनी बकन का कहना है कि गरम पानी में टी बैग डुबो कर चाय बनाने की तुलना में चाय की पत्ती और गरम पानी को मिलाने की प्रक्रिया बहुत अधिक पेचीदा है.

इस मशीन के प्रोटोटाइप का अमरीकी कॉफ़ी हाउस में परीक्षण चल रहा है. इस साल के अंत तक यह मशीन आम ग्राहकों के लिए बाज़ार में उपलब्ध हो सकती है.

क़ीमत पर सवाल

लेकिन विशेषज्ञ सवाल यह उठा रहे हैं कि क्या कोई व्यक्ति चाय बनाने की मशीन पर इतना अधिक पैसा खर्च करेगा.

दी क्राफ़्ट ब्रूअर चाय की पत्ती को मिलाने की एक अद्भुत प्रक्रिया पर आधारित है. इसे विपरीत वायुमंण्डलीय सम्मिश्रण कहा जाता है.

इसमें चाय की पत्ती और पानी को आपस में मिलाने के लिए एक चैंबर बना होता जहाँ चाय की पत्ती और पानी को रखा जाता है.

इसके बाद निर्वात पैदा करने के लिए उसमें से हवा निकाल ली जाती है.

चैंबर का नकारात्मक दबाव चाय की पत्तियों को पानी के सतह पर लाता है. बकन के मुताबिक़ इस दौरान उसमे चाय की पत्ती का स्वाद गरम पानी में चाय की पत्ती मिलाने की तुलना में अधिक शुद्ध रूप से आता है.

इस प्रक्रिया को एक से डेढ़ मिनट के लिए दोहराया जाता है. विभिन्न तरह के लिए अलग-अलग सम्मिश्रण चक्र की जरूरत होती है. इसके लिए ज़रूरी है कि पानी के ताप और उसके चायपत्ती से मिलने जैसे कारकों को अच्छे से तय किया जाए.

यह मशीन एक घंटे में 60 से अधिक कप चाय बना सकती है.

कैप्सूल आधारित

साल 2012 में कैंब्रिज कंसल्टेंट नाम की कंपनी जिसने टी बैग बनाने में सहायता की थी, उसने कैप्सूल आधारित चाय बनाने की एक मशीन के डिजाइन को तैयार किया है.

इस कंपनी के उपभोक्ता उत्पाद विकास विभाग के प्रमुख रूथ थॉमसन कहते हैं, ''हमसे अक्सर पूछा जाता है कि एक प्याली अच्छी चाय बनाने के पीछे का विज्ञान क्या है.''

कंपनी अपनी मशीन को एक परंपरागत कॉफ़ी मशीन की लागत के बराबर मूल्य पर बाज़ार में लाने के लिए कुछ निर्माताओं से बातचीत कर रही है.

क्राफ़्ट ब्रूअर के बारे में थॉमसन कहती हैं,'' इसकी क़ीमत जानकर मुझे झटका लगा, लेकिन मैं यह देख सकती हूं कि आखिर इसकी इतनी क़ीमत क्यों है.''

वो कहती हैं, '' एक प्याली अच्छी चाय बनाने पर विचार करने के लिए बहुत से मापदंड हैं और दबाव का मापदंड इनमें सबसे अधिक महंगा है.''

वो कहती हैं,'' लेकिन यह एक महत्वपूर्ण मापदंड है और स्वाद पर इसका महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ता है.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार