यूक्रेनः राष्ट्रपति चुनावों को पुतिन का समर्थन

व्लादिमिर पुतिन इमेज कॉपीरइट AP

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने यूक्रेन में 25 मई को होने वाले राष्ट्रपति चुनावों को सही दिशा में उठाया गया क़दम बताया है.

हालाँकि उन्होंने यह भी कहा कि मतदान से कुछ नहीं होगा अगर सभी नागरिकों के अधिकारों की सुरक्षा न की जाए.

पूर्वी यूक्रेन में अलगाववादियों के इस हफ़्ते जनमतसंग्रह करने की तैयारी की है. यूक्रेन के अंतरिम प्रधानमंत्री आरसीनी यात्सेनयूक ने इस स्वतंत्र जनमतसंग्रह के पुतिन के आग्रह को बकवास कहा है.

पुतिन ने यह भी कहा है कि यूक्रेन में बढ़ते तनाव के मद्देनज़र रूस ने सीमा से अपने सैनिक पीछे हटा लिए हैं.

रूस लगातार यह कहता रहा है कि यूक्रेन की अवैध सरकार से यूक्रेन के पूर्वी और दक्षिणी इलाक़ों में रहने वाले रूसी भाषी लोगों की रक्षा करता रहेगा.

दूसरी ओर यूक्रेन ने रूस समर्थक लड़ाकों की अधिक स्वायत्ता प्राप्त करने की माँगों को नकार दिया है. यू्क्रेन को इससे देश के टूटने का डर है. हाल के दिनों में यूक्रेन ने रूस समर्थक लड़ाकों के क़ब्ज़े से सरकारी इमारतों को छुड़ाने के लिए व्यापक सैन्य अभियान चलाया है.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

पुतिन ने सलाह दी है कि इस रविवार को कुछ इलाक़ों में होने अलगाववादियों द्वारा कराए जाने वाले जनमत संग्रह को टालने के बदले यूक्रेन के सैन्य अभियान को रोका जा सकता है.

लेकिन यूक्रेन के प्रधानमंत्री आरसीनी यात्सेनयूक ने कहा है कि पुतिन बिना सिर-पैर की बात कर रहे हैं.

इससे पहले बुधवार को रूस समर्थक लड़ाकों ने दक्षिणी तटीय शहर मारियूपोल में सिटी हॉल को फिर से क़ब्ज़े में ले लिया. इस इमारत को यूक्रेन के सैन्यबलों ने अलगाववादियों के क़ब्ज़े से छुडा़ लिया था.

जनमत संग्रह

मॉस्को में यूरोप के लिए सुरक्षा और सहयोग संगठन (ओएससीई) के चेयरमैन दिदीर बुर्ख़ाल्तर के साथ वार्ता के बात यह सलाह दी है.

यूक्रेन के डोनेत्स्क क्षेत्र में जनमतसंग्रह की तैयारी कर रहे अलगाववादियों ने तीस लाख बैलट पेपर छपवाए हैं. अलगावादियों का कहना है कि पुतिन के आग्रह पर चर्चा के लिए वे शुक्रवार को मुलाक़ात करेंगे.

यूक्रेन के आगामी राष्ट्रपति चुनावों पर पुतिन का कहना है कि "मैं इस बात पर ज़ोर देना चाहता हूँ कि यह सही दिशा में उठाया गया क़दम है लेकिन इससे कुछ नहीं होगा यदि यूक्रेन के तमाम नागरिकों को चुनाव हो जाने के बाद अपने अधिकार सुरक्षित नहीं लगेंगे."

पुतिन ने कहा है कि रूस के सैनिक सीमा से पीछे हटे हैं लेकिन नेटो का कहना है कि उसे यूक्रेन की सीमा पर रूस के सैन्यबलों की स्थिति में कोई बदलाव नज़र नहीं आया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार