नाइजीरिया: गवर्नर को पता है अगवा लड़कियों के बारे में

नाइजीरियाई गवर्नर काशिम शेट्टीमा इमेज कॉपीरइट AFP

नाइजीरियाई राज्य बोर्नो के गवर्नर काशिम शेट्टीमा का कहना है कि उनके पास इसकी जानकारी है कि इस्लामी चरमपंथी समूह बोको हराम के द्वारा अगवा की गई 200 लड़कियों को कहाँ रखा गया है.

गवर्नर काशिम शेट्टीमा ने कहा कि उन्होंने प्रमाणिकता की जाँच के लिए लड़कियों के ठिकाने की रिपोर्ट सेना को दे दी है.

शेट्टीमा ने आगे बताया कि वह नहीं सोचते कि लड़कियों को देश की सीमा रेखा के पार चाड या कैमरून ले जाया गया है.

इससे पहले फ्रांस के राष्ट्रपति ने बोको हराम पर एक शिखर सम्मेलन की मेजबानी करने की पेशकश की है.

शिखर सम्मेलन

फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांसुआ ओलांद ने कहा, " मैंने नाइजीरियाई राष्ट्रपति गुडलक जोनाथन को नाइजीरिया के पड़ोसी देशों के साथ बैठक की सलाह दी है. अगर ये देश तैयार होते हैं तो यह बैठक अगले शनिवार को होनी चाहिए. "

इस सुरक्षा शिखर सम्मेलन में नाइजीरिया के पड़ोसी देश कैमरून, नाईजर और चाड को बुलाया जाएगा.

सम्मेलन में अमरीका, ब्रिटेन और यूरोपीय संघ भी संभवतः शामिल होंगे.

अमरीका, ब्रिटेन और फ्रांस ने पहले ही नाइजीरियाई सरकार को तकनीकी सहायता देने का वायदा कर चुकी है.

इमेज कॉपीरइट AP

इस बीच राष्ट्रपति जोनाथन ने कहा, " इजरायल का एक आतंकरोधी दल स्कूली छात्राओं को खोजने में मदद के लिए नाइजीरिया पहुँच रहा है. "

मदद

फ्राँस की सेना ने पिछले साल अल-कायदा समर्थित चरमपंथियों को बाहर भेजने के लिए माली में प्रवेश किया था.

अमरीका और ब्रिटेन दोनों ने अपने आप को नाइजीरिया के सुदूर उत्तरी क्षेत्र में सैन्य कार्रवाई करने के प्रस्ताव से दूर रखा है.

शनिवार को अमरीका के रक्षा सचिव चक हेगल ने कहा, " अमरीकी सेना नहीं भेजने के निर्णय के पीछे कोई नीयत नहीं है. "

ब्रिटिश प्रधानमंत्री डेविड कैमरून ने कहा, " नाइजीरिया में मदद के लिए ब्रिटिश सैनिकों की माँग की उम्मीद नहीं थी. "

लेकिन आगे उन्होंने कहा, " मैंने राष्ट्रपति जोनाथन से कहा है कि वो बताएं कि हम कहाँ मदद कर सकते हैं, और हम देखेंगे कि हम क्या कर सकते हैं. "

अमरीका राष्ट्रपति कि पत्नी मिशेल ओबामा ने बताया है कि राष्ट्रपति बराक ओबामा नाइजीरिया में लड़कियों के अगवा किए जाने से काफ़ी " नाराज़ और दुखी " है.

बोको हराम साल 2009 से नाइजीरियाई सरकार के ख़िलाफ़ हिंसक अभियान में संलिप्त है. अगवा की गई अधिकतर लड़कियाँ ईसाई है.

चिबोक जहाँ से लड़कियों को अगवा किया गया है, दोनों समुदाय के लोग रहते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार