ट्रेनें बन गईं ज़्यादा चौड़ी अब स्टेशन में घुसें कैसे...

फ्रांस की ट्रेन इमेज कॉपीरइट AFP

फ्रांस की सरकारी रेलवे कंपनी फ्रेंच नेशनल रेलवे कंपनी (एसएनसीएफ) के अनुसार, जिन 2000 नई ट्रेनों को बनवाने का आदेश दिया गया था उनका आकार कई क्षेत्रीय इलाकों के रेलवे स्टेशन के मुकाबले इतना ज्यादा है कि वे अंदर प्रवेश ही नहीं कर सकतीं.

एसएनसीएफ ने बताया है कि इन खूब चौड़ी ट्रेनों के निर्माण में 20.5 अरब डॉलर (लगभग 1200 अरब डॉलर) की लागत आई है.

पेरिस से बीबीसी संवाददाता क्रिश्चियन फ्रेज़र का कहना है कि यह चूक बेहद शर्मनाक है, जिससे ट्रेन ऑपरेटर को अब तक 680 लाख डॉलर से भी ज़्यादा का नुकसान हुआ है.

बीबीसी संवाददाता के अनुसार, इस नुकसान के और अधिक होने की संभावना है.

ग़लत जानकारी

रेलवे स्टेशन के मुकाबले अधिक चौड़ी ट्रेनों के बन जाने के बाद अब फ्रांस का रेल विभाग ट्रेनों के हिसाब से रेलवे स्टेशनों को नया रूप देने में लग गया है. इसके लिए रेलवे स्टेशनों को बड़ा करने का काम शुरू हो गया है.

इमेज कॉपीरइट AFP

स्टेशन की चौड़ाई बढ़ जाने के बाद खूब चौड़े आकार की ये नई ट्रेनें यहां से आराम से गुजर सकेंगी.

हालांकि अधिकारियों के मुताबिक, अभी भी ऐसे 1000 रेलवे स्टेशन हैं, जिनका पुनर्निमाण बाकी है. आखिर ऐसी चूक कैसे हुई?

इसके बारे में बताया जा रहा है कि राष्ट्रीय रेल ऑपरेटर आरएफएफ द्वारा एसएनसीएफ को ग़लत जानकारी देने के कारण ये गड़बड़ी हुई है.

'बेतुकी रेल प्रणाली'

बीबीसी संवाददाता ने बताया है कि आरएफएफ ने ऐसे रेलवे स्टेशनों के माप लिए, जो 30 साल के भीतर बने हैं और यहीं उनसे भूल हुई.

वास्तविकता तो ये है कि फ्रांस के कई क्षेत्रीय इलाकों के रेलवे स्टेशन ऐसे हैं, जो 50 साल से भी ज्यादा पुराने हैं. तब ट्रेनें थोड़ी दुबली हुआ करती थीं.

अधिकारियों के अनुसार इन रेलवे स्टेशनों के किनारे पटरियों से ज़्यादा करीब हैं जिससे नई ट्रेनों का स्टेशन में प्रवेश कर पाना असंभव है.

रेल कंपनी को इस गड़बड़ी का पता काफी देर से चला. आरएफएफ के एक प्रवक्ता ने इस बात की पुष्टि की है.

परिवहन मंत्री फेडेरिक कुविलियर इस गड़बड़ी के लिए 'बेतुकी रेल प्रणाली' को दोषी बताया है.

वे बताते हैं, "रेल ऑपरेटर को ट्रेन कंपनी से अलग कर दिया जाए, तो यही होता है, जो हुआ है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार