मोदी के शपथ ग्रहण में आएंगे नवाज़ शरीफ़

नवाज़ शरीफ़ नरेंद्र मोदी

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ ने भारत के होने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा लेने संबंधी आमंत्रण को औपचारिक तौर पर स्वीकार कर लिया है.

पाकिस्तान सरकार के प्रवक्ता ने बताया है कि नवाज़ शरीफ़ सोमवार को भारत के होने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा लेंगे.

पिछले हफ़्ते नरेंद्र मोदी की तरफ़ से पाकिस्तान के प्रधानमंत्री समेत भारत के पड़ोसी देशों के नेताओं को न्योते भेजे गए थे.

भारत और पाकिस्तान के विभाजन के बाद यह पहला मौक़ा होगा जबकि दोनों देशों में से एक के प्रधानमंत्री दूसरे के शपथग्रहण समारोह में हिस्सा ले रहे हैं.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ के दफ़्तर से ट्विटर पर जारी बयान में कहा गया है कि प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ इस समारोह में हिस्सा लेंगे. पाकिस्तान में सत्तारूढ़ पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज़ पार्टी के प्रवक्ता तारिक़ अज़ीम ने बताया है कि शरीफ़ के भारत दौरे के बारे में जल्द ही एक सरकारी अधिसूचना जारी होगी.

तारिक़ अज़ीम ने यह भी कहा है कि पाकिस्तान इस इलाक़े में शांति स्थापना की कोशिशों के लिए प्रतिबद्ध है और बातचीत के ज़रिए ही इसे हासिल किया जा सकता है.

प्रतिनिधिमंडल

इमेज कॉपीरइट AFP

हालांकि तारिक अज़ीम का यह भी कहना था कि इस मौक़े पर किसी बड़े मुद्दे पर बातचीत की उम्मीद करना ठीक नहीं है. उनका कहना था कि नवाज़ शरीफ़ के साथ आने वाले प्रतिनिधिमंडल में प्रधानमंत्री के विदेश मामलों और राष्ट्रीय सुरक्षा के सलाहकार सरताज अज़ीज़ भी शामिल हैं.

इस बीच रेडियो पाकिस्तान ने कहा है कि यह दौरा दोनों देशों को इस क्षेत्र में शांति प्रयासों को आगे बढ़ाने और आपसी संबंध सुधारने का एक मौक़ा उपलब्ध कराएगा, जिसके लिए पाकिस्तान हमेशा प्रतिबद्ध रहा है.

भारतीय जनता पार्टी ने नवाज़ शरीफ़ के भारत आने के फ़ैसले पर खुशी ज़ाहिर की है.

पार्टी प्रवक्ता प्रकाश जावडेकर ने भारतीय मीडिया को बताया है, "ये बहुत खुशी की बात है. पाकिस्तान हमारा पड़ोसी देश है और ये दोनों देशों के बीच संबंध और अच्छे बनाने की नए सिरे से शुरुआत हो रही है."

वहीं पाकिस्तान में पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी की प्रवक्ता शेरी रहमान ने एक भारतीय टीवी चैनल से बातचीत में कहा कि यह दोनों देशों के बीच संबंध सुधारने की दिशा में यह अच्छा क़दम है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार