स्पेन के राजा हुआन कार्लोस सिंहासन छोड़ेंगे

स्पेन के राजा जुआन कार्लोस (फ़ाइल फ़ोटो) इमेज कॉपीरइट AFP

स्पेन के प्रधानमंत्री मारियानो राजोय ने कहा है कि देश के राजा हुआन कार्लोस ने स्वेच्छा से पद छोड़ने का फ़ैसला किया है.

76 वर्षीय कार्लोस 1975 से सिंहासन पर हैं. उन्होंने तानाशाह फ़्रांसिस्को फ्रैंको की मौत के बाद सत्ता का अधिग्रहण किया था.

उनके बाद 45 वर्षीय युवराज प्रिंस फेलिप गद्दी पर बैठेंगे.

अपने शासनकाल के दौरान लंबे समय तक हुआन कार्लोस की गिनती दुनिया के सबसे लोकप्रिय राजा में होती थी.

लेकिन हाल ही में स्पेनवासियों के एक वर्ग भरोसा उन पर से उठ गया था.

'बदलाव का अच्छा समय'

उनकी बेटी और दामाद पर लंबे समय से चलने वाली भ्रष्टाचार संबंधी जाँच से राजा की लोकप्रियता गिरी है.

लोगों की नाराज़गी तब और बढ़ गई जब ये बात सामने आई कि देश के वित्तीय संकट के समय वो बोत्सवाना में हाथी के शिकार पर गए हुए थे.

स्पेन के प्रधानमंत्री ने एक संक्षिप्त बयान में कहा, "राजा हुआन कार्लोस ने मुझे अभी गद्दी छोड़ने के अपने फ़ैसले और उत्तराधिकार की प्रक्रिया शुरू करने के बारे में सूचित किया है."

इमेज कॉपीरइट PA

उन्होंने इस फ़ैसले यह कहते हुए कोई कारण नहीं बताया कि राजा इस बारे में स्वयं बताएंगे, लेकिन हुआन कार्लोस का स्वास्थ्य गिर रहा है और उनको हाल के वर्षों में कई बार कूल्हे का ऑपरेशन करवाना पड़ा है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि हुआन कार्लोस ''हमारे हितों के संरक्षण से लिए अथक प्रयास करने वाले थे."

उन्होंने आगे कहा, "मैं इस बात से सहमत हूँ कि यह बदलाव का सबसे अच्छा समय है."

उन्होंने कहा इस मसले पर मंत्रियों की एक विशेष बैठक होगी.

कार्लोस की महत्वपूर्ण भूमिका

जनरल फ़्रांसिस्को फ्रैंको के बाद सत्ता का अधिग्रहण करने वाले कार्लोस पहले राजा हैं जो क़रीब 40 सालों तक अपने पद पर बने रहे.

सत्ता संभालने के बाद उन्होंने शीघ्र ही फ्रैंको के समर्थकों को नज़रअंदाज कर दिया, जो तानाशाही शासन की बढ़ोत्तरी चाहते थे और संसदीय राजशाही की नई व्यवस्था का स्वागत किया.

इमेज कॉपीरइट AFP

सालों बीतने के साथ राजा ने रोज़मर्रा की राजनीति में अपनी भागीदारी कम कर ली.

राजा के बेटे और अगले उत्तराधिकारी फेलिप के लेकर किसी तरह का विवाद सामने नहीं आया है.

फेलिप और उनकी पत्नी पूर्व टेलीविजन प्रस्तोता राजकुमारी लेत्ज़िया की भूमिका हाल में आयोजित होने वाले समारोहों में काफ़ी महत्वपूर्ण हो गई है.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार