सार्जेंट बेर्गेडेल पर चल सकता है मुक़दमा

सार्जेंट बोव बेर्गेडेल

अमरीका के एक उच्च सैन्य अधिकारी ने कहा है कि अग़वा किए जाने से पहले ही अपनी चौकी ख़ाली करने को लेकर बोव बेर्गेडेल पर मुक़दमा चलाया जा सकता है.

जनरल मार्टिन डेंपसी ने कहा कि सेना इस तरह के लापरवाही की अनदेखी नहीं करेगी. लेकिन 28 साल का यह सैनिक दोष सिद्ध होने तक निर्दोष है.

अमरीकी सेना ने पुष्टि की है कि वह सार्जेंट बोव बेर्गेडेल के अपहरण की परिस्थितियों की नई तरह से समीक्षा करेगी.

तालिबान की हिरासत में पाँच साल रहने के बाद बेर्गेडेल को शनिवार को रिहा किया गया था.

फ़ैसले का बचाव

एक समझौते के तहत बेर्गेडेल की रिहाई के बदले तालिबान के पांच वरिष्ठ नेताओं को रिहा करने के फ़ैसले का अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने बचाव किया है.

सार्जेंट बेर्गेडेल के साथी सैनिकों की ओर से उनपर चौकी पर क़ब्ज़ा होने से पहले ही उसे छोड़ने के आरोपों के बीच ओबामा ने कहा कि अमरीका में अपने सैनिकों पीछे न छोड़ने का एक बहुत ही पवित्र नीयम है.

वार्सा में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में ओबामा ने कहा, ''हम अपने महिला-पुरुष सैनिकों को युद्धबंदी के रूप में नहीं छोड़ते हैं. यह शुरू से चली आ रही परंपरा है.''

सार्जेंट बेर्गेडेल की शनिवार को रिहाई के बाद रिपब्लिकन नेताओं ने राष्ट्रपति के क़ैदियों की अदला-बदली संबंधी फ़ैसले की आलोचना तेज़ कर दी है.

उन्होंने चरमपंथियों के साथ किए गए समझौते को लेकर राष्ट्रपति की आलोचना की. उनका कहना है कि ग्वांतानामो बे जेल से तालिबान के पांच वरिष्ठ क़ैदियों की रिहा कर क़तर को सौंपने से अमरीकियों का जीवन ख़तरे में पड़ जाएगा.

वहीं कुछ लोगों ने ग्वांतानामो बे जेल से किसी क़ैदी के स्थानांतरण के एक महीने पहले कांग्रेस को सूचित करने के नियम की अवहेलना करने के लिए ह्वाइट हाउस की आलोचना की है.

ह्वाइट हाउस की माफ़ी

ख़ुफ़िया मामलों पर सिनेट की एक समिति के अध्यक्ष और डेमोक्रेट नेता डैनी फ़ेनिस्टिन ने कहा कि पूर्व में सूचना न देने को लेकर उनसे और समिति के अन्य सदस्यों से ह्वाइट हाउस ने माफ़ी मांगी है.

इमेज कॉपीरइट Getty

उन्होंने कहा, ''मेरा यह दृढ़ मत है कि हमसे सलाह ली जानी चाहिए थी और क़ानून का पालन किया जाना चाहिए था. मुझे इस बात का बहुत अफ़सोस है कि इस मामले में ऐसा नहीं किया गया.''

पोलैंड में ओबामा ने कहा कि उनकी सरकार ने क़ैदियों की अदला-बदली को लेकर कुछ समय के लिए कांग्रेस से विचार विमर्श किया था. लेकिन किसी ख़ास कार्रवाई से पहले कांग्रेस को सूचना नहीं दी गई, क्योंकि वो सार्जेंट बेर्गेडेल के स्वास्थ्य को लेकर उठाई जा रही चिंताओं को देखते हुए अवसर को भुनाना चाहते थे.

अमरीकी राष्ट्रपति कार्यालय ह्वाइट हाउस के प्रवक्ता कैटलिन हेडेन ने भी इस फ़ैसले का बचाव करते हुए कहा कि कांग्रेस के क़ानून का पालन करने से क़ैदियों की अदला-बदली में देर होती, इससे समझौता ख़तरे में पड़ जाता.

रिपब्लिकन सिनेटर ज़न मैक्केन ने इन अफ़ग़ान कैदियों की अदला-बदली के संबंध में कहा कि उन लोगों ने हमें तबाह करने के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया.

सदन के सभापति ज़न बोहेनर ने भी इस मामले की कांग्रेस में सुनवाई का समर्थन किया. उन्होंने कहा कि यह महत्वपूर्ण है कि हम यह जाने की अदला-बदली किस तरह अमल में लाई गई.

आख़िरी मौक़ा

इमेज कॉपीरइट Getty

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक़ रक्षा मंत्री चुक हेगल को प्रतिनिधि सभा की सेना से संबंधित एक समिति ने क़ैदियों की अदला-बदली को लेकर 11 जून को गवाही देने के लिए बुलाया है.

हालांकि इस समझौते का सेना के उच्च अधिकारियों ने समर्थन किया है. जनरल डेंपसी ने अपने फ़ेसबुक पन्ने पर लिखा कि एक अमरीकी बंधक को रिहा करवाने का यह एक तरह से आख़िरी मौक़ा था.

उन्होंने कहा कि सार्जेंट बेर्गेडेल जब हमें तथ्य उपलब्ध कराएंगे, तब हमें पता चलेगा कि क्या हुआ था और दोषी पाए जाने तक वह निर्दोष हैं.

उन्होंने कहा, ''अगर कोई ग़लत व्यवहार पाया जाता है तो सेना के अधिकारी इसकी अनदेखी नहीं करेंगे. इस बीच हम उनका और उनके परिवार की देखभाल जारी रखेंगे.''

सेना के सचिव जॉन मैकहुग ने बाद में कहा कि सेना उन परिस्थितियों की समीतक्षा करेगी जिसमें सार्जेंट बेर्गेडेल गायब हुए और उन्हें बंधक बनाया गया. लेकिन उनका इस समय सेना की पहली प्राथमिकता.

सार्जेंट बेर्गेडेल का जर्मनी के एक सैन्य अस्पताल में इलाज चल रहा है, जहाँ उनकी हालत स्थिर बनी हुई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार