धमाकों की आशंका ने किया विश्व कप का मज़ा किरकिरा

लागोस में फ़ुटबॉल विश्व कप का कार्यक्रम बेचता एक व्यक्ति इमेज कॉपीरइट AFP

नाइजीरिया के उत्तर-पूर्वी प्रांत अदामावा के अधिकारियों ने फ़ुटबॉल विश्व कप के मैचों को बड़ी स्क्रीन पर दिखाने की तैयारी कर रहे लोगों को ऐसा न करने की सलाह दी है.

फ़ुटबॉल विश्व कप गुरुवार से ब्राज़ील में शुरू हो रहा है.

अधिकारियों का कहना है कि उन्हें इस बात की ख़ुफ़िया सूचना मिली है कि चरमपंथी विश्व कप के दौरान बम धमाके करने की योजना बना रहे हैं.

अदामावा नाइजीरिया का एक ऐसा प्रांत है, जो इस्लामी आतंकवाद से सबसे अधिक प्रभावित है.

बड़ी स्क्रीनों पर मैच दिखाने वाले केंद्रों में लोग पैसे देकर फ़ुटबॉल मैच देखते हैं. ऐसे केंद्र पूरे नाइजीरिया में बहुत लोकप्रिय हैं.

समाचार एजेंसी एएफ़पी से ब्रिगेडियर जनरल निकोलस रोजर्स ने बुधवार को अदामावा की राजधानी योला में कहा, ''हमारा यह क़दम नाइजीरियाई लोगों को विश्व कप देखने से रोकने के लिए नहीं है. यह उनका जीवन बचाने के लिए है.''

चरमपंथी हमले

नाइजीरिया में बोको हराम के इस्लामी चरमपंथी अक्सर हमले करते रहते हैं.

एक जून को अदामावा में एक रेस्टोरेंट में स्क्रीन पर मैच दिखाए जाने के दौरान हुए बम धमाके में क़रीब 14 लोगों की मौत हो गई थी. हालांकि हमले की किसी भी संगठन से ज़िम्मेदारी नहीं ली थी लेकिन सबसे अधिक संदेह बोको हराम पर ही है.

अदामावा नाइजीरिया के उन तीन राज्यों में है, जहाँ बोको हराम की बगावत को देखते हुए आपातकाल लागू है.

इमेज कॉपीरइट Getty

उत्तर-पूर्वी शहर मैदीगुरई क़स्बे में मार्च में एक वीडियो हॉल में फ़ुटबॉल मैच दिखाए जाने के दौरान हुए दो धमाकों में बहुत से लोग मारे गए थे. इन धमाकों के लिए बोको हराम को ज़िम्मेदार माना जाता है.

संवाददाताओं का कहना है कि फ़ुटबॉल के बहुत से प्रशंसकों के लिए मैच दिखाने वाले इन केंद्रों का मतलब नाइजीरियाई टीम या 'सुपर ईगल' को खेलते हुए देखने के अलावा कुछ नहीं है. खेल विश्लेषक इस टीम को विश्व कप में अच्छा प्रदर्शन करने वाली अफ़्रीकी टीमों में से एक मान रहे हैं.

रिहाई के प्रयास

अभी हाल में एक स्कूल से दो सौ से अधिक लड़कियों के अपहरण की घटना के बाद बोको हराम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चर्चा के केंद्र में आ गया है.

इन लड़कियों का पता लगाने और उनकी सुरक्षित रिहाई के प्रयास किए जा रहे हैं.

नाइजीरिया की सुरक्षा के बारे में गुरुवार को लंदन में एक मंत्री स्तरीय बैठक प्रस्तावित है. यह बैठक पिछले महीने पेरिस में हुए एक शिखर वार्ता के बाद हो रही है. इस सम्मेलन में बोको हराम पर रोक लगाने के उपायों पर चर्चा हुई थी.

विश्व कप में नाइजीरिया को ग्रुप-एफ़ में ईरान, बोस्निया-हर्जेगोविना और अर्जेंटीना के साथ रखा गया है. नाइजीरिया की टीम अपना पहला मैच 16 जून को ईरान के ख़िलाफ़ खेलेगी.

नाइजीरिया ने 1994 और 1998 में अंतिम 16 में जगह बनाई थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार