रूस ने यूक्रेन को गैस सप्लाई बंद की

रूस यूक्रेन गैस विवाद इमेज कॉपीरइट

यूक्रेन ने आरोप लगाया है कि रूस ने कीएफ को गैस की आपूर्ति बंद कर दी है.

यूक्रेन के ऊर्जा मंत्री यूरी प्रोदान का कहना है, "यूक्रेन की गैस आपूर्ति ठप्प कर दी गई है."

रूस की सरकारी गैस कंपनी गैजप्रोम का कहना है कि कीएफ अपने पिछले बक़ाये की रक़म चुकाने में नाकाम रहा है इसलिए यूक्रेन को गैस के लिए अग्रिम भुगतान करना होगा.

गैजप्रोम ने कीएफ से 4.5 अरब डॉलर में से 1.95 अरब डॉलर की राशि का भुगतान करने को कहा है.

कंपनी का कहना है कि वह यूरोप को गैस की आपूर्ति जारी रखेगी. हालांकि गैजप्रोम प्रमुख एलेक्सी मिलर ने चेतावनी दी है कि यूक्रेन के रास्ते यूरोपीय संघ भेजी जाने वाली आपूर्ति में जोखिम है.

यूक्रेन की गैस कंपनी नेफ्तोगैज के अनुसार यूक्रेन के पास दिसंबर तक के लिए पर्याप्त भंडार मौजूद है.

फरवरी में मास्को के क्राईमिया पर कब्जे के बाद से ही रूस-यूक्रेन के बीच हुए गैस आपूर्ति करार पर संकट के बादल मंडराने लगे थे.

'ब्लैकमेलिंग'

सोमवार की सुबह गैजप्रोम ने एक बयान जारी करते हुए कहा था, "आज से ही, यूक्रेन की कंपनी को रूस केवल उतनी ही मात्रा में प्राकृतिक गैस की आपूर्ति करेगा जितनी मात्रा के लिए कीमत अदा की जा चुकी है."

इमेज कॉपीरइट

गैजप्रोम का कहना है कि वह नेफ्तोगैज से अपने 4.5 अरब डॉलर की वसूली करना चाहता है. नेफ्तोगैज का कहना है कि उसने गैस की क़ीमत से ज़्यादा पैसे चुका रखे हैं.

रूस के प्रधानमंत्री दमित्री मेदवेदेव का कहना है कि यूक्रेन के इस कदम से 'ब्लैकमेल की बू' आती है.

संकट वार्ता

इमेज कॉपीरइट AFP

इस बीच यूक्रेन के प्रधानमंत्री आर्सनी यात्सेनयुक ने मास्को पर आरोप लगाया है कि उसने समझौता अवरुद्ध इसलिए किया है ताकि सर्दियों में यूक्रेन में गैसआपूर्ति संकट पैदा हो जाए.

"यह केवल गैसआपूर्ति का मामला नहीं है. ये यूक्रेन को बर्बाद करने की रूस की योजना है. इसे यूक्रेन और उसकी स्वतंत्रता के खिलाफ उठाया गया एक और कदम कहा जा सकता है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार