पाकिस्तान: ट्विटर ने 'आपत्तिजनक' सामग्री से प्रतिबंध उठाया

इमेज कॉपीरइट twitter
Image caption ट्विटर ने किसी ख़ास देश में कोई अकाउंट ब्लॉक करने की शुरुआत 2012 में की थी.

सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर ने उन तमाम अकाउंट्स और विशेष ट्वीट्स को दोबारा उपलब्ध करा दिया है जिन्हें पाकिस्तान में पहले बंद कर दिया गया था.

पिछले महीने ट्विटर ने कई शिकायतों के बाद इन पर प्रतिबंध लगा दिया था. पाकिस्तान के दूर संचार अधिकारियों ने शिकायत की थी कि इन ट्वीट्स में जो बातें लिखी गई हैं वो “ईशनिंदात्मक” और “अनैतिक” हैं.

इनमें से कई ट्वीट्स ऐसे हैं जो कि इस्लाम का मज़ाक उड़ाते हैं.

ट्विटर का कहना है कि उसने इन पर से प्रतिबंध इसलिए उठा लिया है क्योंकि निगरानी करने वालों ने अपनी शिकायतों के बारे में ज़रूरी दस्तावेज़ नहीं उपलब्ध कराए.

ट्विटर का कहना है, “पाकिस्तान की दूरसंचार अथॉरिटी की सूचना के आधार पर 18 मई 2014 को हमने शुरुआती फ़ैसला लिया कि इस सामग्री को पाकिस्तान में रोक दिया जाए. अपनी नीतियों पर कायम रहते हुए हमने सभी प्रभावित अकाउंट धारकों को नोटिस भेजा.”

ट्विटर के मुताबिक इसके बाद जानकारियों की फिर से समीक्षा की गई, लेकिन पाकिस्तानी अधिकारियों ने उसके बाद जो जानकारियां मांगी गई थीं उन्हें उपलब्ध नहीं कराईं. जिसके चलते ट्विटर ने इन पर लगा प्रतिबंध हटाने का फ़ैसला किया.

ट्विटर ने किसी भी ट्वीट को किसी ख़ास देश में ही ब्लॉक करने की सुविधा की शुरुआत साल 2012 में की थी.

आलोचना

ट्विटर के इस कदम की उस वक्त अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की मांग करने वाले कई संगठनों ने काफी आलोचना की थी. इन संगठनों में रिपोर्टर्स विदाउट बॉर्डर्स संगठन भी शामिल था.

मई महीने में ट्विटर को पाकिस्तान की ओर से कुल पांच शिकायतें मिली थीं जिनमें इस्लाम विरोधी टिप्पणियों, पैगंबर मुहम्मद साहब के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणियों और एक अरबी भाषा की वेबसाइट के अकाउंट को ब्लॉक करने की मांग की थी जो मुसलमानों को नास्तिक बनने के लिए उकसाता है.

इनमें से कई अकाउंट्स को ट्विटर पर उसी समय से ब्लॉक कर दिया गया था लेकिन इनमें उल्लिखित ज़्यादातर टिप्पणियां अभी भी ऑनलाइन हैं.

ट्विटर ने पाकिस्तान में ब्लॉक किए गए इन अकाउंट्स पर से प्रतिबंध हटा लिया है लेकिन कई और देशों में प्रतिबंधित अकाउंट्स पर ये अभी भी लागू है.

इनमें जर्मनी में नव-नाज़ी अकाउंट, फ्रांस के कुछ ट्वीट्स और भारत में एक ऐसे ट्वीट पर प्रतिबंध जारी है जो कि एक शीतल पेय बनाने वाली कंपनी के बारे में ये प्रचार करता है कि उसने अपने उत्पाद में दूषित पदार्थों का उपयोग किया है.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार