इराक़: कार्रवाई के लिए ओबामा को 'नहीं चाहिए मंज़ूरी'

इमेज कॉपीरइट AFP

अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अमरीकी संसद के नेताओं से कहा है कि इराक़ में किसी भी कार्रवाई के लिए उन्हें कानून निर्माताओं की मंज़ूरी की ज़रूरत नहीं है.

प्रमुख रिपब्लिकन सीनेटर मिच मैक मैककोनेल ने राष्ट्रपति और संसद के वरिष्ठ नेताओं के साथ हुई बैठक के बाद यह जानकारी दी.

इराक़ ने सुन्नी चरमपंथियों के ख़िलाफ़ अमरीका से हवाई हमले करने के लिए कहा है.

इस बीच अमरीका के उप-राष्ट्रपति जो बिडेन और इराक़ी प्रधानमंत्री नूरी मलिकी ने इराक़ी बलों की सहायता करने के लिए अमरीका के "अतिरिक्त उपायों" पर चर्चा की.

व्हाइट हाउस से जारी एक बयान में कहा गया है कि दोनों नेताओं ने "आतंकवादियों की बढ़त रोकने" के उपायों पर विचार किया.

कार्रवाई

आईएसआईएस (इस्लामिक स्टेट ऑफ़ इराक़ एंड अल शाम) की हाल में मिली बढ़त पर अमरीकी प्रतिक्रिया के बारे में चर्चा करने के लिए ओबामा ने बुधवार को कांग्रेस के नेताओं के साथ व्हाइट हाउस में मुलाकात की.

इमेज कॉपीरइट AFP

इसके बाद मैककोनेल ने कहा कि राष्ट्रपति ने "संकेत दिया है कि वह जो क़दम उठा सकते हैं, उसके बारे में उन्हें नहीं लगता कि हमारी अनुमति की ज़रूरत है."

हमारे संवाददाता ने बताया कि व्हाइट हाउस ने अभी तक इस सवाल को नज़रअंदाज़ किया है कि क्या इराक़ में किसी सैन्य कार्रवाई के लिए संसद की मंज़ूरी चाहिए या नहीं.

बीबीसी संवाददाता जोनाथन बील ने बताया कि विशेष बल "आईएसआईएस" पर कार्रवाई के लिए तैयार हैं.

बीते साल सीरिया पर संभावित हमले के लिए राष्ट्रपति ने संसद की मंज़ूरी नहीं ली थी. हालांकि जब यह साफ़ हो गया कि कांग्रेस उनके इस क़दम का समर्थन नहीं करेगी, तो उन्होंने अपना फ़ैसला वापस ले लिया.

इससे पहले सांसदों ने यह कहते हुए सरकार की आलोचना की थी कि सरकार ने अफ़ग़ानिस्तान में अमरीकी फ़ौजी बर्गडेल की रिहाई के लिए ग्वांतानामो जेल से पांच कैदियों को रिहा करने के दौरान संसद से ज़रूरी सलाह-मशविरा नहीं किया.

चुनौती

प्रशासनिक अधिकारियों का कहना है कि राष्ट्रपति इराक़ में एकतरफ़ा कार्रवाई कर सकते हैं क्योंकि वहां की सरकार ने आईएसआईएस चरमपंथियों के ख़िलाफ़ अमरीका से हवाई हमले का अनुरोध किया है.

पिछले एक सप्ताह के दौरान आईएसआईएस ने इराक़ के प्रमुख शहरों पर अपना क़ब्ज़ा जमा लिया है.

ख़बरों के मुताबिक़ आईएसआईएस और उनके सुन्नी मुसलमान साथी दियाला और सलाहुद्दीन प्रांत में भी बढ़त बना रहे हैं. उन्होंने बगदाद के उत्तर में स्थित देश की सबसे बड़ी रिफ़ाइनरी पर भी धावा बोला है.

हालांकि अमरीकी प्रशासन ने अभी तक आधिकारिक तौर से हवाई हमला करने के इराक के अनुरोध पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.

बीबीसी के रक्षा संवाददाता फ्रैंक गार्डनर का कहना है कि ओबामा के पास हवाई हमले से लेकर अतिरिक्त प्रशिक्षण देने तक कई विकल्प हैं.

बुधवार को बैठक से पहले डेमोक्रेट सांसद हैरी रेड ने कहा कि वह "किसी भी सूरत में" इराक़ी "गृहयुद्ध" में अमरीकी सैनिकों को शामिल करने का समर्थन नहीं करेंगे.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार