थाईलैंडः सेना ने किया 2015 में चुनाव का वादा

थाईलैंड, सैन्य शासक, जनरल प्रयुथ इमेज कॉपीरइट

थाइलैंड के सैन्य शासक ने देश में लोकतंत्र बहाली का वादा किया है. लेकिन उनका कहना है कि देश में अक्टूबर 2015 के बाद ही चुनाव होंगे.

जनरल प्रयुथ चान ओचा ने एक भाषण में कहा कि अगले महीने एक अंतरिम संविधान अपनाया जाएगा.

इसके बाद एक अस्थाई कैबिनेट अगले साल चुनाव होने तक शासन का कामकाज देखेगी.

(थाईलैंड में तख़्तापलट, सत्ता पर सेना का कब्ज़ा)

चुनाव का वादा

सेना ने 22 मई को यह कहते हुए सत्ता पर नियंत्रण कर लिया था कि वो महीनों से जारी राजनीतिक और सामाजिक गतिरोध को दूर करके स्थिरता लाना चाहती है.

इसके बाद से देश का शासन सैन्य सरकार के हाथों में है. सत्ता परिवर्तन का नेतृत्व करने वाले जनरल प्रयुथ ने कहा कि देश में कोई भी चुनाव नए संविधान के तहत होंगे, जिसका निर्माण नियुक्त की गई एक समिति करेगी.

उन्होंने टेलीविज़न पर अपने एक संवोधन में कहा, "नए संविधान के तहत होन वाले चुनाव स्वतंत्र और निष्पक्ष होंगे ताकि पूरे थाई लोकतंत्र की मजबूत बुनियाद रखी जा सके."

जनरल प्रयुथ ने उन रिपोर्टों को ख़ारिज किया है कि तख़्तापलट की योजना सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों के साथ मिलकर पहले से तैयार की गई थी.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार