'स्वस्थ समलैंगिक पुरुष भी एड्स की दवाएं लें'

  • 11 जुलाई 2014
Image copyright Thinkstock

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने सभी स्वस्थ समलैंगिक पुरुषों से अपील की है कि वो एड्स से जुड़ी एंटीरेट्रोवायरल दवाएं लें ताकि एड्स को बढ़ने से रोका जा सके.

संगठन का कहना है कि ऐसा करने से अगले दस वर्षों में एड्स के कम से कम दस लाख मामले रोके जा सकेंगे.

अधिकारियों ने चेतावनी दी है कि पूरी दुनिया में समलैंगिकों में एचआईवी फैलने की आशंका सबसे अधिक रहती है.

हालांकि कार्यकर्ताओं का कहना है कि ऐसा करने पर कंडोम का इस्तेमाल कम हो सकता है जो असल में एड्स वायरस रोकने का सबसे अच्छा तरीका है.

डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट के अनुसार जो पुरुष अन्य पुरुषों के साथ सेक्स करते हैं उनमें एड्स होने की संभावना आम लोगों की तुलना में 19 प्रतिशत अधिक होती है.

स्वास्थ्य मामलों के विशेषज्ञ मानते हैं कि सेक्स करने वाले सभी समलैंगिक पुरुष अगर कंडोम इस्तेमाल के साथ साथ ये दवाएं भी लें तो एड्स पर रोकथाम में बड़ी सफलता मिलेगी.

शोध के अनुसार जिन लोगों में वायरस फैलने की संभावना अधिक होती है वो अगर स्वस्थ होते हुए भी दवाईयां लेते हैं तो उनमें एचआईवी होने की संभवाना 92 प्रतिशत कम हो जाती है. विशेषज्ञ कहते हैं कि इन दवाओं से पूरी दुनिया में नए मामलों के आने में 25 प्रतिशत की कमी हो सकती है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार