अफ़ग़ानिस्तान: वोटों की दोबारा गिनती पर 'सहमति'

इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीकी विदेश मंत्री जॉन कैरी ने कहा है कि अफ़ग़ानिस्तान में राष्ट्रपति पद के दोनों उम्मीदवार वोटों की फिर से गिनती के लिए सहमत हो गए हैं.

पिछले महीने हुए दूसरे चरण के चुनाव के बाद दोनों ही उम्मीदवार अपनी अपनी जीत का दावा कर रहे हैं और दोनों ही एक दूसरे पर धांधली करने का आरोप लगाते हैं.

काबुल में दोनों उम्मीदवारों अशरफ़़ ग़नी और अब्दुल्ला अब्दुल्ला के साथ प्रेस कांफ्रेस में कैरी ने कहा कि दोनों उम्मीदवार नतीजे को स्वीकार करेंगे.

कैरी ने कहा कि सभी 80 लाख वोटों की दोबारा गिनती 24 घंटों में शुरू हो जाएगी.

शुरुआती नतीजे अशरफ़ ग़नी की जीत की तरफ इशारा करते हैं.

अफ़ग़ानिस्तान के चुनाव अधिकारियों की ओर से जारी नतीजों के अनुसार 14 जून को हुए चुनाव में गनी को 56.44 प्रतिशत वोट मिले जबकि अब्दुल्ला अब्दुल्ला को 43.45 प्रतिशत मत मिले.

इससे पहले चरण के चुनाव में अब्दुल्ला अब्दुल्ला को सबसे ज़्यादा मत मिले लेकिन वह जीत के लिए जरूरी 50 प्रतिशत पाने में नाकाम रहे. पहले दौर के चुनाव में ग़नी अब्दुल्ला से बहुत पीछे थे.

इमेज कॉपीरइट Reuters

इन चुनावों में जीतने वाला उम्मीदवार राष्ट्रपति हामिद करज़ई का स्थान लेगा जो 10 साल से इस पद पर हैं.

लेकिन ताज़ा चुनावों गतिरोध को दूर करने के लिए अमरीकी विदेश मंत्री कैरी को अफ़ग़ानिस्तान का दौरा करना पड़ा है.

अमरीका ख़ास तौर से इन ख़बरों से चिंतित है कि अब्दुल्ला अब्दुल्ला अफ़ग़ानिस्तान में 'समांतर सरकार' चलाने की योजना बना रहे हैं.

(बीबीसी हिंदी के क्लिक करें एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार