ग़ज़ा पर हज़ार से ज़्यादा रॉकेट हमले

  • 12 जुलाई 2014
गाज़ा हमला

ग़ज़ा पट्टी के चरमपंथियों और इसराइल के बीच पिछले कुछ दिनों से जारी गोलीबारी में तेज़ी आई है.

शनिवार को इसराइल ने कहा है कि इस अभियान की शुरुआत से अब तक उसने 1160 हमले किए हैं जबकि हमास की ओर से 689 रॉकेट दागे गए हैं.

इन हमलों से इसराइल में नुकसान पहुंचा है और कुछ लोग घायल हुए हैं.

'ग़ज़ा पर हमले तेज़ करेगा' इसराइल

फ़लिस्तीनी सूत्रों के अनुसार, अभी तक 121 फ़लिस्तीनी मारे जा चुके हैं. संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक इनमें तीन चौथाई से अधिक नागरिक हैं.

इसराइल ने कहा है कि उसने ताज़ा हमलों में चरमपंथियों के 60 से अधिक ठिकानों को निशाना बनाया है.

जबकि इसराइल सेना के अनुसार, इसराइल के बीरशेबा में रॉकेट से दो हमले हुए.

इमेज कॉपीरइट Getty

रॉकेट हमलों को रोकने के लिए पांच दिन पहले इसराइल द्वारा शुरू किए गए अभियान के बाद अबतक सैकड़ों मिसाइल और रॉकेट दागे गए हैं.

इसराइल का दावा

इसराइल का कहना है कि वो चरमपंथियों और उनके ठिकानों को निशाना बना रहा है. उसका कहना है कि इस हमले में दर्जनों चरमपंथी मारे गए हैं.

संयुक्त राष्ट्र की तमाम कोशिशों के बावजूबद दोनों पक्षों में संघर्ष विराम के आसार नहीं दिख रहे हैं.

इसराइल-हमास में बढ़ते रॉकेट हमले

इसराइली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू ने शुक्रवार को कहा था कि इस अभियान को रोकने के लिए वो किसी विदेशी दवाब में नहीं आएंगे.

इमेज कॉपीरइट

फलिस्तीनी अधिकारियों ने बताया कि रात भर चले हमले में इसराइल ने विकलांगों के एक गैर सरकारी संगठन की इमारत को निशाना बनाया जिसमें दो किशोरियों की मौत हो गई.

रात में ग़ज़ा पट्टी की एक मस्ज़िद को भी निशाना बनाया गया. समाचार एजेंसी एसोसिएटे प्रेस ने हमास प्रवक्ता के हवाले से कहा है कि अभियान में पहली बार मस्ज़िदों को निशाना बनाया गया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार