ग़ज़ा: संघर्ष विराम प्रस्ताव इसराइल को स्वीकार

इमेज कॉपीरइट AP

ग़ज़ा पट्टी में जारी इसराइली हवाई हमले से पैदा संकट को ख़त्म करने के लिए मिस्र ने संघर्षविराम का प्रस्ताव दिया है, जिसे इसराइल ने स्वीकार कर लिया है.

मंगलवार को इसराइल के कैबिनेट की बैठक में इस बारे में फ़ैसला लिया गया. हमास की तरफ़ से अभी कोई प्रतिक्रिया नहीं मिल सकी है, लेकिन उसके हथियारबंद गुट ने इसे 'आत्मसमर्पण' क़रार दिया है.

मिस्र की राजधानी क़ाहिरा में दोनों पक्षों के प्रतिनिधियों की लंबी बैठकों के बाद ये प्रस्ताव सामने आया है.

इसराइल और ग़ज़ा में शासन करने वाले हमास, के बीच संघर्ष विराम से ग़ज़ा के लोगों को राहत मिलने की उम्मीद है.

इमेज कॉपीरइट AP

इससे ग़ज़ा पट्टी पर मंगलवार से जारी इसराइली हमला थम जाएगा. जिसमें अब तक कम से कम 192 लोगमारे गए हैं, जबकि इसराइल का कहना है कि इस दौरान उसकी तरफ ग़ज़ा पट्टी से लगभग एक हज़ार रॉकेट दाग़े गए हैं.

इस संकट के कारण जहां हज़ारों फ़लस्तीनी ग़ज़ा पट्टी को छोड़ कर भाग रहे हैं, वहीं इसराइल ने सीमा के नज़दीक अपने हज़ारों सैनिकों को तैनात कर दिया है जिससे ग़ज़ा में ज़मीनी हमले की अटकलें लगाई जा रही हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार