आईएसआईएस से टक्कर लेंगी कुर्द महिला सैनिक

महिला पेशमेर्गा दस्ता

इराक़ में कुर्दिस्तान के स्थानीय सुरक्षा बल पेशमर्ग की महिला सैनिक आईएसआईएस से दो-दो हाथ करने को तैयार हैं.

स्वायत्त कुर्दिस्तान के शहर सुलेमानिया के बाहरी इलाक़े में एक सैन्य अड्डे में इनका प्रशिक्षण और अभ्यास चल रहा है और ये जंग में कूदने को तैयार हैं.

इमेज कॉपीरइट AP

पेशमर्ग के इस महिला दस्ते में सभी महिलाएं स्वैच्छिक कार्यकर्ता हैं. सैकड़ों महिला सैनिकों वाले इस दस्ते में से कुछ पहले जंग में शामिल हो चुकी हैं, जबकि बहुत सी जंग लड़ने को तैयार हैं.

इमेज कॉपीरइट AP

दस्ते की यूनिट कमांडर हैं कर्नल नाहिदा अहमद रशीद. वह बताती हैं कि इस यूनिट का गठन 1996 में पूर्व राष्ट्रपति सद्दाम हुसैन के समर्थकों से लड़ने के लिए किया गया था.

इमेज कॉपीरइट AP

कर्नल रशीद कहती हैं कि उनकी महिला सैनिक रोज़ प्रशिक्षण ले रही हैं और तैयार हैं, "उन्हें स्पेशल फ़ोर्सेस के साथ प्रशिक्षित किया गया है."

"इनमें से कुछ पहले ही जंग में हिस्सा ले चुकी हैं और अन्य को जल्द ही किर्कुक भेजा जा रहा है. कुछ वक़्त पहले मैं भी वहीं थी."

इमेज कॉपीरइट ap

कर्नल रशीद कहती हैं, "इन्होंने कुर्दिस्तान की रक्षा के लिए हथियार उठाएं हैं लेकिन इसके साथ ही ये यह भी बताना चाहती हैं कि मर्द और औरत में कोई फ़र्क़ नहीं है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)