चीन: व्यभिचार पर पार्टी से निष्कासन

चीन , कम्युनिस्ट पार्टी इमेज कॉपीरइट AFP

चीन में कम्युनिस्ट पार्टी के कार्यकर्ताओं को अपनी पत्नी को धोखा देने पर पार्टी से निकाला जा सकता है.

चीन के भ्रष्टाचार विरोधी अभियान के बारे में आपने बहुत कुछ सुना होगा लेकिन शायद ही चीन की सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी के "नैतिक भ्रष्टाचार" के ख़िलाफ़ इस नई कार्रवाई के बारे में सुना हो.

चीन में आम लोगों के लिए व्याभिचार अवैध नहीं है.

लेकिन अंग्रेजी अखबार चाइना डेली की रिपोर्ट के मुताबिक़ कम्युनिस्ट पार्टी के सदस्यों के लिए व्याभिचार प्रतिबंधित है.

उच्च नैतिक मापदंड

अख़बार के मुताबिक़ जून में ही पार्टी सदस्यों को चेतावनी दी गई थी और उन्हें कहा गया था कि वे आम लोगों की तुलना में "उच्च नैतिक मापदंडों" का पालन करें.

रिपोर्ट में पार्टी के 6 सदस्यों के व्याभिचार लिप्त होने की बात भी की है लेकिन यह नहीं कहा गया है कि उन्हें क्या सज़ा दी गई है.

पार्टी ने इससे पहले "नैतिक भ्रष्टाचार" के मामले में जब सदस्यों को दोषी पाया था तो तीन प्रेमिकाओं से अधिक रखने को व्याभिचार के रूप में परिभाषित किया था.

आम लोगों की नज़र में प्रेमिकाएं रखना भ्रष्टाचार की प्रतीक है. आम धारणा है कि पार्टी का कोई भी अधिकारी बिना सार्वजनिक कोष में भ्रष्टाचार किए अपनी प्रेमिका के लिए कार और घर नहीं ख़रीद सकता है.

प्रचार का हथकंडा

2007 में आई एक सरकारी रिपोर्ट के मुताबिक़ भ्रष्टाचार के मामले में संलिप्त 90 फ़ीसदी उच्च अधिकारियों की कम से कम एक प्रेमिका थी और कई मामलों में तो उनकी एक से ज़्यादा प्रेमिका थी.

लेकिन कई इसे कम्युनिस्ट पार्टी के प्रचार का हथकंडा मान रहे हैं.

जब पूर्व शीर्ष नेता बो शिलाई पहली बार भ्रष्टाचार के मामले में फंसे थे तो अभियोग पक्ष ने अनावश्यक रूप से कहा था कि उनके कई महिलाओं के साथ "अनुचित यौन संबंध" है.

हो सकता है अभियोग पक्ष सही हो लेकिन आरोप पत्र में सेक्स की बात करना मामले की सुनवाई से पहले राजनेता के नाम को ख़राब करने की अधिकारियों की कोशिश थी.

पार्टी यह उम्मीद कर रही है कि जनता किसी एक व्यक्ति के नैतिक पतन पर ध्यान देगी बजाय पार्टी के कुकर्मों के.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार