पाकिस्तान: ईशनिंदा की अफ़वाह, हिंसा में चार मरे

पाकिस्तान में अहमदी समुदाय पर हमला इमेज कॉपीरइट BBC World Service

पाकिस्तान में पुलिस का कहना है कि फ़ेसबुक पर ईशनिंदा वाले एक कथित पोस्ट की अफ़वाह के बाद हुई आगज़नी में अल्पसंख्यक अहमदिया समुदाय के चार लोग मारे गए हैं.

पाकिस्तान के गुजरांवाला में उग्र भीड़ ने इस अफ़वाह के बाद कई घरों में आग लगा दी जिसमें चार लोग मारे गए और चार अन्य घायल हो गए.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि मारे गए लोग अहमदिया समुदाय के थे.

बीबीसी उर्दू सेवा ने स्थानीय प्रशासन के हवाले से मारे गए लोगों का पोस्टमार्टम हो गया है लेकिन उनके शव ले जाने के लिए अभी तक कोई नहीं पहुंचा है.

दो महीने पहले एक अलग मामले में, एक युवक ने इलाक़े के ही एक थाने में घुसकर उस अहमदी व्यक्ति की हत्या कर दी थी जिस पर ईशनिंदा के आरोप लगे थे.

लंदन से अहमदी समुदाय की तरफ़ से जारी एक बयान में इस घटना के दौरान तीन लोगों के मारे जाने की बात कही गई है. इस बयान में एक सात महीने की गर्भवती महिला का गर्भ गिरने की पुष्टि की गई है.

इमेज कॉपीरइट epa

पाकिस्तान में अहमदिया समुदाय के लोगों को मुसलमान नहीं माना जाता है. 1974 में इस संबंध में घोषणा की गई थी जिसके बाद से ही अहमदिया समुदाय प्रताड़ना का शिकार होता रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार